Career Guide

पीएचडी क्या है? कैसे करे पूरी जानकारी

Advertisement

नमस्कार दोस्तों ! आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे की PhD क्या है और कैसे करे उसके बारे में पूरी जानकारी। डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी के लिए पीएचडी, कम से कम 3 साल की अवधि के साथ डॉक्टरेट डिग्री प्रोग्राम है। डॉक्टरेट पूरा करने के लिए उम्मीदवार को तीन से छह साल या उससे अधिक समय लग सकता है। कार्यक्रम में उन्नत थियोसोफिकल और शोध-आधारित अध्ययनों के माध्यम से चुने हुए क्षेत्र का गहन ज्ञान प्रदान करने वाला अकादमिक फोकस है। पीएचडी कोर्स के लिए आवेदन करने के लिए, चुने हुए विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए। पीएचडी के इच्छुक उम्मीदवार किसी भी स्ट्रीम में डिग्री हासिल कर सकते हैं, बशर्ते उनके पास उस क्षेत्र में पूर्व शैक्षिक अनुभव हो। इससे पहले, उम्मीदवार डिस्टेंस मोड के माध्यम से डिग्री हासिल कर सकते थे, लेकिन यूजीसी (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग) द्वारा जारी 2017 के परिपत्र के अनुसार, दूरस्थ शिक्षा मोड के माध्यम से किए गए पीएचडी कार्यक्रमों को अब मान्यता नहीं दी जाएगी।

जरुर पढ़े: डॉक्टर कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में पढ़े

पीएचडी का फुल फॉर्म (Full-Form of PhD)

पीएचडी एक प्रोग्राम के लिए व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला संक्षिप्त नाम है जो डॉक्टरेट स्तर पर पेश किया जाता है। PhD शब्द डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी के लिए है। विशेषज्ञता के क्षेत्र के आधार पर, नाम का प्रत्यय बदल जाता है। उदाहरण के लिए, यदि कोई बायोसाइंस में डॉक्टरेट कर रहा है, तो कोर्स को बायोसाइंस में पीएचडी कहा जाएगा।

Advertisement

विभिन्न स्ट्रीम में टॉप पीएचडी (डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी) कार्यक्रम (Top PhD Programs in Different Streams)

यहां कुछ डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी पाठ्यक्रम दिए गए हैं जो विभिन्न स्ट्रीम में पेश किए जाते हैं :

PhD Courses in Science

PhD in Applied Sciences

PhD in Chemistry

PhD in Basic and Applied Sciences

Advertisement

PhD in Clinical Research

PhD in Mathematical and Computational Sciences

PhD in Environmental Science and Engineering

PhD in Mathematics

PhD in Bioscience

Advertisement

PhD Biotechnology

PhD in Zoology

PhD in Science

PhD Zoology

PhD in Bioinformatics

Advertisement

PhD in Physics

PhD in Applied Chemistry and Polymer Technology

PhD Courses in Humanities and Social Sciences

PhD in Psychology

PhD in Humanities

PhD in Public and Economic Policy

PhD in English

PhD in Physiology

PhD in Humanities and Life Sciences

Advertisement

PhD Geography

PhD in Arts

PhD in Economics

PhD in Public Policy

PhD in Humanities and Social Sciences

PhD in Social Sciences

PhD in International Relations and Politics

PhD in Literature

PhD in Social Work

PhD Courses in Engineering

PhD in Engineering

PhD in Computer Science Engineering

PhD in Electronics and Communication Engineering

PhD in Production Engineering

PhD in Chemical Engineering

PhD in Marine Biotechnology

PhD in Information Technology

PhD Program in Quantitative Techniques

PhD in Civil Engineering

PhD in Aeronautical and Automobile Engineering

PhD in Engineering and Technology

PhD in Electronics and Communication Engineering

PhD in Mechanical Engineering

PhD in Ceramic Engineering

PhD in Genetic Engineering

PhD Courses in Commerce

PhD in Commerce

PhD in Statistics

PhD in Commerce and Management

PhD in Accountancy

PhD in Banking and Finance

PhD in Business Economics

PhD in Accounting and Financial Management

PhD in Commerce Management

PhD Courses in Business and Management

PhD in Logistics and Supply Chain Management

PhD in Marketing

PhD in Management

PhD in Human Resource Management

PhD in Business Administration

PhD in Aviation Management

PhD in Operation Management

PhD in Renewable Energy

PhD in Disaster Management

PhD in Organisation Behaviour

PhD Courses in Law

PhD in Law

PhD in Legal Studies

Doctor of Laws

PhD in Law and Governance

PhD in Constitutional Law

Medical PhD Courses

Doctorate of Medicine (MD) in Biochemistry

Doctorate of Medicine in Forensic Medicine

Doctorate of Medicine in Cardiology

PhD in Physiotherapy

PhD in Physiology

PhD in Pathology

PhD in Medicine

Doctorate of Medicine in Homoeopathy

PhD in Psychiatry

PhD in Hospital Administration

PhD in Radiology

PhD in Neurosciences

PhD in Medical Physics

PhD in Immunology

PhD in Paramedical Sciences

जरुर पढ़े: आईपीएस अधिकारी कैसे बने पूरी जानकारी

पीएचडी पात्रता मानदंड (Ph.D. Eligibility Criteria)

डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी को आगे बढ़ाने के लिए सामान्य पात्रता मानदंड यहां दिए गए हैं जिन्हें उम्मीदवारों को पूरा करना चाहिए।

  • डॉक्टरेट के लिए चुने गए विषय से संबंधित विषय या स्ट्रीम में मास्टर डिग्री होनी चाहिए।
  • कुछ कॉलेजों के लिए, उम्मीदवारों को पीएचडी करने के लिए पहले एम.फिल की डिग्री पूरी करनी होती है।
  • अधिकांश कॉलेजों के लिए यह भी महत्वपूर्ण है कि उम्मीदवारों ने यूजीसी नेट पास किया हो।
  • इंजीनियरिंग में डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी की डिग्री के लिए, गेट को क्लियर करना होगा।

पीएचडी उम्मीदवारों की श्रेणियां (Categories of PhD candidates)

विभिन्न प्रकार के पीएचडी उम्मीदवार नीचे सूचीबद्ध हैं:

स्व-वित्तपोषित पीएचडी उम्मीदवार (Self-financed PhD Candidates):

इस प्रकार के उम्मीदवार किसी संस्थान की सामान्य प्रवेश प्रक्रिया में भाग लेते हैं, लेकिन उन्हें उस संस्थान से किसी भी प्रकार की वित्तीय सहायता नहीं मिलती है।

प्रायोजित पीएचडी उम्मीदवार (Sponsored PhD Candidates):

इस प्रकार के पीएचडी उम्मीदवारों को संबंधित संस्थानों से पूर्णकालिक शोध करने के लिए अनुसंधान एवं विकास संगठनों द्वारा मान्यता प्राप्त है।

सरकारी / अर्ध सरकारी। फैलोशिप प्राप्तकर्ता (Govt./ Semi Govt. Fellowship Recipients):

इन पीएचडी छात्रों को सरकारी या अर्ध सरकारी फेलोशिप योजनाओं के माध्यम से वित्तीय सहायता मिलती है।

अध्ययन अवकाश के उम्मीदवार (Study Leave Candidates):

इस प्रकार के पीएचडी उम्मीदवारों को एक निर्दिष्ट संस्थान में शोध कार्य करने के लिए सरकार / शैक्षणिक संस्थानों या कंपनियों द्वारा तीन साल से कम की छुट्टी दी जाती है।

आईसीसीआर पुरस्कार विजेता (ICCR Awardees):

ICCR का मतलब भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद है। इस श्रेणी के अंतर्गत आने वाले पीएचडी विद्वान विदेशी उम्मीदवार हैं जो उनके संबंधित सरकार द्वारा प्रायोजित हैं।

जरुर पढ़े: सरकारी शिक्षक (Government Teacher) कैसे बने?

पीएचडी के लिए प्रवेश प्रक्रिया (डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी) – Admission Process for PhD

भारत में डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी की डिग्री प्रदान करने वाले कुछ शीर्ष कॉलेजों में सीट हासिल करने के लिए, उम्मीदवारों को निम्नलिखित चरणों से गुजरना होगा:

  • पीएचडी के लिए प्रवेश प्रक्रिया एक आवेदन प्रक्रिया के साथ शुरू होती है।
  • इसके लिए उम्मीदवारों को इच्छित कॉलेज/विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • कुछ विश्वविद्यालय अपनी वेबसाइट पर एक अधिसूचना प्रकाशित करते हैं, जबकि कुछ समाचार पत्रों में एक विज्ञापन पोस्ट करते हैं।
  • कई विश्वविद्यालयों को भी छात्रों को आवेदन पत्र के साथ अपने शोध प्रस्ताव जमा करने की आवश्यकता होती है।
  • एक बार आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद, संस्थान शोध प्रस्ताव और आवेदन पत्र की जांच करता है।
  • अंत में, शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों की एक सूची जारी की जाती है।
  • इन उम्मीदवारों को तब एक प्रवेश परीक्षा या चयन प्रक्रिया के अन्य दौरों के लिए उपस्थित होना आवश्यक है।
  • जो उम्मीदवार इन सभी दौरों में सफल होते हैं, उन्हें अंततः इच्छित कॉलेज में पीएचडी पाठ्यक्रम में प्रवेश की पेशकश की जाती है।

शीर्ष पीएचडी प्रवेश परीक्षा (Top PhD Entrance Exams)

पीएचडी पाठ्यक्रम के लिए कुछ शीर्ष राष्ट्रीय स्तर या संस्थान स्तर की प्रवेश परीक्षाओं का उल्लेख नीचे किया गया है।

UGC NET Exam

BITS Pilani PhD Entrance Examination

Osmania University PhD Entrance Exam

AIIMS Ph.D. Entrance Exam

JNU PhD Entrance Exam

Kurukshetra University PhD Entrance Exam

IISC PhD Entrance Exam

Symbiosis PhD Entrance Exam

NIPER PhD Entrance Exam

Guru Gobind Singh Indraprastha University Delhi PhD Admission Test

GITAM University Visakhapatnam PhD Admissions Test

Jamia Hamdard New Delhi PhD Admission Test

PhD Entrance Exam of NMIMS University Mumbai

ISM Dhanbad PhD Admission Test

जरुर पढ़े: एनडीए (NDA) क्या है और कैसे जॉइन करे?

पीएचडी कोर्स शुल्क (PhD Course Fee)

विभिन्न प्रकार के संस्थानों में पीएचडी के लिए पाठ्यक्रम शुल्क नीचे टेबल में दिया गया है:

Institute Type

Minimum Fee

Maximum Fee

Average Fee

Private Colleges

INR 7,450

INR 6.95 Lakhs

INR 1.35 Lakhs

Public Colleges

INR 3,950

INR 3 Lakhs

INR 80,040

पीएचडी के बाद नौकरी की संभावनाएं (Job Prospects after Ph.D.)

आज की दुनिया में, पीएचडी पूरा करने के बाद उम्मीदवारों के लिए अपार संभावनाएं हैं। वे दिन गए जब पीएचडी का दायरा अकादमिक तक ही सीमित था। पीएचडी पूरा करने के बाद, किसी को अपनी क्षमता को ट्रैक करना चाहिए और अपने सटीक कौशल और विशेषज्ञता के आधार पर नौकरियों के लिए आवेदन करना चाहिए। पीएचडी करने के बाद उम्मीदवार इसमें में से कुछ करियर विकल्प चुन सकते हैं:

  • शोधकर्ता (Researcher)
  • वैज्ञानिक (Scientist)
  • व्याख्याता और प्रोफेसर (Lecturer & Professor)
  • लेखक और राइटर (Author & Writer)
  • पत्रकार (Journalist)
  • संपादक और आलोचक (Editor & Critic)
  • मानव सेवा कार्यकर्ता (Human Services Worker)
  • स्वतंत्र सलाहकार (Independent Consultant)
  • दार्शनिक पत्रकार (Philosophical Journalist)
  • औद्योगिक अनुसंधान एवं विकास लैब पेशेवर (Industrial R&D Lab professionals)
  • वरिष्ठ अनुसंधान वैज्ञानिक (Senior Research Scientist)

जरुर पढ़े: Indian Air Force Officer कैसे बने पूरी जानकारी

Final Last Word :

दोस्तों, हम उम्मीद करते हे की यह पीएचडी क्या है? कैसे करे पूरी जानकारी आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा जेसे की पीएचडी का फुल फॉर्म, विभिन्न स्ट्रीम में टॉप पीएचडी (डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी) कार्यक्रम, पीएचडी पात्रता मानदंड, पीएचडी उम्मीदवारों की श्रेणियां, पीएचडी के लिए प्रवेश प्रक्रिया, शीर्ष पीएचडी प्रवेश परीक्षा, पीएचडी कोर्स शुल्क, पीएचडी के बाद नौकरी की संभावनाएं जेसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement