Career Guide

पटवारी कैसे बने?

Advertisement

नमस्कार दोस्तों! आज कल सभी लोग नौकरी की तलाश में होते है। सभी यही चाहते है की उन्हें सरकारी नौकरी मिले। एक वक्त था जब लोग प्राइवेट नौकरी करना चाहते थे सरकारी नौकरी को कोई पूछता तक नही था लेकिन अब वक्त बदल गया है। सरकारी नौकरी के लिए बहुत ज्यादा स्पर्धा है। जहा 100 लोगो की जरुरत होती है वहा 10,000 लोग हिस्सा लेते है।और जहा 10th क्लास पास के लिए नौकरी की पोस्ट होती है, वहा ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट वाले लोग अप्लाई करते है। इस वजह से सरकारी नौकरी पाना बहुत मुश्किल हो गया है। कुछ लोग 12thक्लास पास करने के बाद कलेक्टर, सरकारी अधिकारी,क्लास 3 जेसे अधिकारी बनना चाहते है। तो कोई 12th क्लास पास करने के बाद पटवारी बनना चाहते है। इस पद के लिए उनको स्पर्धात्मक परीक्षा देनी पड़ती है। इस एग्जाम को देने से पहले इस के बारे में पूरी जानकारी होना बहुत ही जरुरी है अगर आपके पास जानकारी नही है तो आप एग्जाम में फ़ैल भी हो सकते है। तो दोस्तों हमारे आजके इस आर्टिकल में हम आपको पटवारी क्या होता है ? (what is patwari in Hindi), पटवारी कैसे बने ? (how to do patwari information in Hindi), पटवारी बनने की योग्यता क्या है?, पटवारी आयु सीमा क्या है?, पटवारी भर्ती एग्जाम, पटवारी का वेतन क्या है आदि के बारे में विस्तुत समजेंगे। तो हमारे आज के आर्टिकल में हम आपको पटवारी कैसे बने और उसकी पूरी जानकारी देंगे। हमारा यह आर्टिकल अंत तक पढियेगा जरुर।

जरुर पढ़ें: आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कैसे बने?

पटवारी क्या होता है?

पटवारी जिसे लेखपाल भी कहते है। यह राजस्व विभाग में एक अधिकारी का पद है। पटवारी पद को राजस्व अधिकारी भी कहा जाता है। इस पद में राज्य सरकार का एक अधिकारी होता है। इस पदको कुछ राज्यों में पटवारी, पटेल, अधिकारी, कारनाम, शानबोगारू आदि के नाम से जाने जाते है। 12th पास के बाद जो स्टूडेट सरकारी नौकरी की तलाश में है उनके लिए पटवारी पद का बहुत ही अच्छा ऑप्शन है।

Advertisement

पटवारी एक सरकारी अधिकारी होता है। यह पद भारतीय उपमहाद्वीप के ग्रामीण क्षेत्रो में सरकार का प्रशासनिक पद होता है। जो देश के ग्रामीण क्षेत्र में भूमि के मालिको के बारे में जानकारी रखता है। पटवारी जमीन रिकॉर्ड अधिकारी के रूप में जाना जाता है। जमीन को मापना और जमीन का रिकॉर्ड रखना पटवारी का मुख्य कार्य है।

हर एक पटवारी को अलग क्षेत्र दिया जाता है, उस क्षेत्र में भूमि से जुड़ी सभी परेशानी को हल करने की जिम्मेदारी पटवारी यानी लेखपाल की होती है। इसके अलावा, पटवारी को सरकार के आदेश के अनुसार काम करने पड़ते हैं।

जरुर पढ़ें: सरकारी शिक्षक (Government Teacher) कैसे बने?

भारत में पटवारी प्रणाली की शुरुआत किसने की? (Who introduced the Patwari System in India?)

पटवारी प्रणाली को शेरशाह सूरी के तहत भारत लाया गया था। फिर अकबर के शासन में लेखपाल प्रणाली को पहले से बेहतर बनाया गया फिर 1814 की साल में भारत सरकार द्वारा एक कायदा लाया गया जिसके तहत पटवारी एजेंट को हर गाँव में जरुरी कर दिया गया था। और तब से पटवारी गांव के फसल और जमीन पर नजर रखकर अपना कर्तव्य निभाते हैं और एक पटवारी अपने गांव में सरकार के प्रतिनिधि भी होते हैं।

Advertisement

पटवारी कैसे बने?

राज्य सरकार द्वारा रिक्त पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी होता है। जिसमें पटवारी बनने की योग्यता, पदों की संख्या तथा परीक्षा के बारे में पूरी जानकारी दी होती है। आप इसकी निर्धारित तिथि के अनुसार आवेदन कर सकते है। उसके बाद परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। अगर आप अच्छे अंक से पास होते है तो आपको चयन प्रक्रिया में सम्मिलित किया जायेगा और उसके बाद आपको डोक्युमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जायेगा।

लेखपाल बनने के लिए उम्मीदवार के पास कुछ योग्यताएं होनी जरुरी है, जिन्हें पूरा करने के बाद ही आप आगे की प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं।

जरुर पढ़ें: 12th क्लास के बाद क्या करे पूरी जानकारी अवस्य पढ़े

पटवारी बनने की योग्यता क्या है?

12th क्लास पास करे

अगर आप पटवारी बनना चाहते है तो आपको 12th क्लास पास करनी होगी। (आप किसी भी सब्जेक्ट में 12th पास कर सकते हैं जैसे, आर्टस, कॉमर्स, साइंस आदि।)

Advertisement

ग्रेजुएशन पूरी करे

12th क्लास पास के बाद ही पटवारी के लिए आवेदन कर सकते है लेकिन अब, इसके लिए ग्रेजुएशन की पढ़ाई बहुत ही जरुरी कर दी है। इसलिए 12th क्लास क्लियर करने के बाद कोई भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करें।

कंप्यूटर कोर्स करें

पटवारी बनने के लिए कंप्यूटर की सामान्य ज्ञान होनी बहुत जरुरी है। इसलिए पटवारी के लिए कंप्यूटर कोर्स बहुत ही अनिवार्य है। आप ग्रेजुएशन की पढ़ाई के साथ-साथ कंप्यूटर कोर्स कर सकते हैं। पटवारी की पोस्ट के लिए अप्लाई करने के लिए NIEILIT द्वारा प्रमाणित CCC कोर्स certificate (Course on Computer Concepts) होना जरुरी है।

जरुर पढ़ें: Income Tax Officer कैसे बने पूरी जानकारी

Advertisement

पटवारी बनने के लिए कौशल (Skills to Become a Patwari)

पटवारी बनने के लिए निम्नलिखित कौशल का होना जरूरी है:

  • एक पटवारी को अपनी टीम का मार्गदर्शन करने में और अपने कार्य में होशियार होना बहुत जरुरी है।
  • एक लेखपाल की बोलचाल की भाषा नरम और समझदारी भरी होनी चाहिए।
  • पटवारी को अपने क्षेत्र की भूमि और उसकी मालिकी से जुड़ी सभी जानकारी सही सही होनी चाहिए।
  • जमीन से संबंधित कागजात के खासियत होने चाहिए और कागजात से संबंधित सभी समस्याओं को हल -करना आना चाहिए।
  • पटवारी को सभी कानून और कायदे मालूम होना चाहिए ताकि वे गांव की भूमि से जुड़ी सभी समस्याओं का समाधान कर सके।
  • पटवारी का व्यवहार भी बहुत अच्छा होना चाहिए क्योंकि कभी-कभी विवादित भूमि की समस्या को पटवारी ही सुलझाता है इसलिए, आपका अच्छा स्वभाव और भाषण बहुत ही अहमियत रखता है।

पटवारी बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit for Patwari)

पटवारी की पोस्ट के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक की आयु कम से कम 18 वर्ष और ज्यादा से ज्यादा 40 वर्ष के बीच की होना आवश्यक है। पटवारी के लिए age limit अलग-अलग राज्यों में अलग हो सकती है। जानकारी के लिए आप अपने राजस्व विभाग के ऑफिस में जाकर माहिती प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा अन्य आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को उम्र में नियमानुसार छुट दी जाती है। आरक्षित वर्ग के युवाओ को 3 साल की छुट प्रदान की जाती है तो कुछ राज्यों में यह छुट पांच साल की भी हो सकती है।

जरुर पढ़ें: रेलवे में टिकट कलेक्टर कैसे बने?

पटवारी बनने के लिए क्या करे ?

अगर आप में ऊपर दी गयी सारी योग्यता है, तो आप पटवारी पोस्ट के लिए एप्लाई कर सकते है। एक बात आपको बतादे की अप्लाई करने के लिए आपको राज्य सरकार भर्ती की एग्जाम के नोटिफिकेशन का इंतजार करना होगा। जब भी नोटिफेकेशन जारी हो तब आप इसके लिए आवेदन कर सकते है। अप्लाई के बाद आपको नीचे दिए गए एग्जाम और इंटरव्यू से गुजरना पड़ेगा।

लिखित परीक्षा

लिखित एग्जाम 100 अंकों का होगा और इस परीक्षा में सारे प्रश्न को हल करने के लिए 90 मिनट का समय मिलता है। इस एग्जाम में आपको सामान्य ज्ञान, सामान्य हिंदी, गणित, ग्रामर, समाज और विकास से संबधिंत सवाल पूछे जाते है। इस एग्जाम में गलत उतर देने पर नकारात्मक अंक काट का प्रावधान होता है। इसलिए आपको सभी प्रश्न के जवाब सोच समज कर देने चाहिए।

पटवारी का पद हांसिल करने के लिए आपको लिखित परीक्षा और इंटरव्यू दोनों की तैयारी करनी होगी क्योंकि Written Exam और Interview में प्राप्त अंकों के आधार पर ही पटवारी पद के लिए चयन और नियुक्ति की जाती है।

जरुर पढ़ें: Army Officer कैसे बने पूरी जानकारी

Advertisement

साक्षात्कार (Interview)

यदि आप 100 अंकों की लिखित परीक्षा में कम से कम 80 marks प्राप्त करते हैं तो ही आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। जहा आपका इंटरव्यू यानि साक्षात्कार लिया जाता है। हालांकि अब कुछ राज्यों में इंटरव्यू के प्रावधान को हटा दिया है। आपको Interview की तैयारी जरुर करनी चाहिए।

इंटरव्यू में सफल होने वाले उम्मेदवरो को training से गुजरना होगा। अगर आप प्रशिक्षण में पास हो जाते है तो आपको अंतिम नियुक्ति पत्र दे दिया जाता है और आप बन जाते हैं पटवारी।

पटवारी की परीक्षा का पाठ्यक्रम (Patwari Exam Syllabus)

सामान्य हिंदी : जनरल हिंदी के अंतर्गत, अलंकार, विलोम, पर्यायवाची, रस, संधियों, तद्भाव समान, वचन, कारक, काल, लोकोक्तियां, मुहावरे, वाक्यांशों के लिए एक शब्द, अनेकार्थी शब्द वाक्य-संशोधन-वचन, वर्तनी, आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछे जा सकते है।

गणित : गणित पाठ्यक्रम के अंदर आवृत्ति, आवृत्ति वितरण, सारणीकरण, संचयी आवृत्ति, तथ्यों का निर्धारण, बार चार्ट, पाई चार्ट, हिस्टोग्राम, आवृत्ति बहुभुज, केंद्रीय माप: समानांतर मीन, माध्य और मोड और बहुपद, संख्या प्रणाली, प्रतिशत, लाभ हानि, सांख्यिकी, तथ्यों का वर्गीकरण इत्यादि के बारें में पूछा जा सकता है।

बीजगणित : एलसीएम और एचसीएफ के बीच संबंध, एलसीएम और एचसीएफ, समकालीन समीकरण, द्विघात समीकरण, कारक, क्षेत्र प्रमेय आदि के बारें में पूछाजा सकता है।

रेखागणित : आयत, स्क्वायर, ट्रैपेज़ियम, पेरेमिल्रोग्राम के परिधि और क्षेत्र, त्रिभुज और पाइथागोरस प्रमेय परिधि और सर्किल क्षेत्र इत्यादि।

सामान्य ज्ञान : भारतीय इतिहास, स्वतंत्रता आंदोलन, विश्व भूगोल और जनसंख्या, भारतीय राजनीति और अर्थशास्त्र, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व के वर्तमान मामले, आदि के बारें में पूछा जा सकता है।

सामान्य विज्ञान : भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन की प्रकृति और विशेषता के बारे में , राष्ट्रवाद के उदय, वित्तीय, सामाजिक, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के अंतर्गतधार्मिक और राजनीतिक दलों के ज्ञान पर ध्यान होगा।

विश्व भूगोल : सामान्य ज्ञान का भौतिक / आर्थिक, सामाजिक, पारिस्थितिकी विज्ञान, जनसांख्यिकीय मुद्दों के बारे में पूछा जा सकता है।

ग्राम समाज एवं विकास : ग्राम विकास अनुसंधान, ग्राम स्वास्थ्य योजनाओं, ग्राम समाज, ग्राम विकास भारत, ग्राम विकास कार्यक्रम और प्रबंधन विकास, ग्राम विकास आदि के बारे पूछा जा सकता है।

जरुर पढ़ें: भारत के बड़े राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की जनसंख्या वार

पटवारी की तैयारी कैसे करे ?

अगर आपको पटवारी पद के लिए तैयारी करनी है तो आपको इस पोस्ट की एग्जाम के 5 वर्ष के प्रश्न पत्र को एकत्र करके हल करना होगा। इससे आपको पता चलेगा की कौन से प्रश्न पूछे जा सकते है और उन्हें केसे हल करे। कई बार एसा होता है की पुराने प्रश्न पत्र से भी प्रश्न पूछे जाते है। आपको एक टाईमटेबल बनाना चाहिए और उसके हिसाब से पढाई करनी चाहिए। जो सब्जेक्ट आपको ज्यादा कठिन लगते है उस सब्जेक्ट को ज्यादा समय दे और जो सब्जेक्ट आपको सरल लगते है उन्हें कम समय देंगे तो भी चल सकता है। एग्जाम की तैयारी के लिए अप इंटरनेट या यूटूब वीडियो की मदद ले सकते है।

एग्जाम में सफल होने के लिए विशेषज्ञो से प्रश्न पुछ सकते है। उनकी बताई गयी टिप्स की सहायता से तैयारी कर सकते है।
इस एग्जाम में नेगटिव मार्किग की व्यवस्था होती है इस लिए आप गलत जवाब न देने की आदत डाले क्योकि आपका एक गलत जवाब आपके दो सही जवाब के अंको को कट कर सकता है।अगर आप किसी कोचिंग क्लास में जायेंगे तो ज्यादा फायदा हो सकता है क्योंकि वहा तैयारी काफी अच्छे से करवाई जाती है। इसके साथ ही आपको एग्जाम की पूरी जानकारी मिल सकती है। हालांकि कोचिंग क्लास में कुछ रूपये का खर्च हो सकता है परन्तु आपकी तैयारी बहुत अच्छे से हो सकती है।

लेखपाल बनने के लिए किताबें (Books to become a Patwari)

पटवारी या लेखपाल बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण किताबें हैं जैसे की Agrawal Exam cart का Upsssc Rajasv Lekhpal Samanya Bharti Pariksha, Chakshu Panel Of Experts का Chakshu UPSSSC Rajaswa Lekhpal (Samanya Chayan) Bharti Pariksha, Navrang Rai का Rajasthan Patwari Complete Exam Edition (3 Books – Vol 1 , Vol 2 , Solved Papers) बुक्स है जिनसे एग्जाम के Syllabus को Cover करने में सहायता होगी।

जरुर पढ़ें: भारत से जुड़े महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान के प्रश्न

पटवारी की सैलरी कितनी होती है? (Patwari Salary)

अगर आप पटवारी बनना चाहते है तो पटवारी की नौकरी ग्रेड C के अंतर्गत आती है। आपको शुरुआत में 10,000 से 25,000 हर महीने सैलरी मिलती है। इसके अलावा अन्य लाभ भी दिया जाता है। यह वेतन राज्य के हिसाब से अलग अलग होता है।

पटवारी के कार्य क्या है?

  • पटवारी का काम आयु प्रमाणपत्र बनाना तथा उस पर रिपोट लगाने के लिए उत्तरदायी है।
  • पटवारी जाती प्रमाणपत्र, निवास प्रमाणपत्र बनवा के लिए आने वाले आवेदन पत्र पर रिपोर्ट लगाता है।
  • भूमि से संबधित सभी समस्याओ के निराकरण के लिए पहले पटवारी का उत्तरदायी होता है।
  • राजस्व विभाग के अभिलेखों को अपडेट रखने की जिम्मेदारी पटवारी की होती है।
  • पटवारी कृषि या फिर आवासीय जमीन की खरीदी अथवा समय आमजन सहायता कर्ता है।

पटवारी की नौकरियां और रिक्तियां (Patwari Jobs & Vacancies)

अगर हम पटवारी के नौकरी की बात करें तो थोड़ा सा मुश्किल जॉब होता है क्योंकि वह अपने क्षेत्रों के सभी जमीन का रिकॉर्ड, फसल का रिकॉर्ड इत्यादि रखना होता है साथी साथ उसे गांव में होने वाले भूमि विवाद को भी हल करना होता है।

पटवारी की vacancy की जानकारी के लिए आपको अपने राज्य के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर पता करना चाहिए। क्यों की अलग-अलग स्टेट की अलग-अलग Vacancy की तारीख निकलती है। जो आपको आपके राज्य की ऑफिसियल वेबसाइट पर मिल जाएगी।

जरुर पढ़ें: भारत के राष्ट्रीय उद्यान, राज्य, स्थापना और उनका एरिया

Final Last Word :

दोस्तों, हम उम्मीद करते है की पटवारी कैसे बने की पूरी जानकारी के बारे में इस आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा जैसे की पटवारी क्या होता है, भारत में पटवारी प्रणाली की शुरुआत किसने की?, पटवारी कैसे बने?, पटवारी बनने की योग्यता क्या है?, पटवारी बनने के लिए कौशल, पटवारी बनने के लिए आयु सीमा, पटवारी बनने के लिए क्या करे?, पटवारी की परीक्षा का पाठ्यक्रम, पटवारी की तैयारी कैसे करे?, लेखपाल बनने के लिए किताबें, पटवारी के कार्य क्या है?, पटवारी की नौकरियां और रिक्तियां जैसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement