Career Guide

नर्स कैसे बने पूरी जानकारी

Advertisement

नमस्कार दोस्तों! आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे की नर्स कैसे बने और उसके बारे में पूरी जानकारी जैसे की नर्स कैसे बने?, नर्स बनने के लिए क्या करे?, नर्स की शैक्षिक योग्यता, नर्स बनने के लिए उम्र सीमा, नर्स बनने की चयन सीमा, नर्स की सैलरी क्या होती है आदि। बहुत से स्टूडेट का सपना होता है नर्स बनने का क्योंकी एक बार नर्स बनने के बाद छात्र की पहचान अलग हो जाती है। नर्सिग एक ऐसा करियर विकल्प है, जिसके माध्यम से आप मानवता और उसके अच्छे के लिए काम कर सकते है। एक नर्स हमेशा बीमार और जरुरतमंद लोगो की स्वास्थ्य की देख रेख के लिए तत्पर रहती है। नर्सो की मांग दुनियाभर में बढ़ी है, नर्सिग के क्षेत्र में बहुत कुछ नया हो रहा है। सरकार की 130 जनरल नर्सिग मिडवाइफरी और 130 औक्सिलिअरी नर्सिग मिडवाइफ स्कूल खोलने की योजना है, इनके अलावा विभिन्न राज्यों में राज्य नर्सिग परिषद् और नर्सिग सेल को भी मजबूत बनाया जाएगा। नर्सिग क्षेत्र में महिला एवं पुरुष भी शामिल है। विदेश में नर्सिग के सुनहरे मौको को देखकर भारत के बहोत सारे नर्स बड़ी मात्रा में विदेश चले गये है जिससे हमारे देश में नर्स की संख्या में भारी गिरावट आ गई है। इंडिया मेडिकल एसोसिएशन ने इस स्थिति में सुधार लाने के लिए पूरी नर्सिग व्यवस्था को पुनर्जीवित करने की योजना घडी है।

जरुर पढ़े: डी फार्मा क्या है पूरी जानकारी

नर्स कैसे बने? (Nurse Kaise Bane)

एक कैरियर के रूप में नर्स का होद्दा बहुत तेज गति से बढ़ा जा रहा है। केवल अमिरिका, ब्रिटन और कैनेडा जैसे विकसित देशो में भी नहीं बल्कि भारत जैसे विकासशील देशो में बढ़ रही स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता और स्वास्थ्य सुविधाओ के द्वारा डॉक्टर और टीचर्स जैसे नर्सिग का होद्दा एक एसा पेशा है जिसके सेवाओ कि भरपाई किसी भी राशी में की नही जा सकती है। इस होद्दे का बडप्पन “नर्स” शब्द से महसूस किया जाता है। जो मूल रूप से इस्तेमाल किया गया था और इसका प्रयोग माँ और बच्चे के सबसे पवित्र रिश्ते के साथ किया जा रहा है जैसे हम कहते है, की एक माँ अपने बच्चे का तब तक पालन पोषण करती है जब तक वे अपनी अंतिम साँस नही ले लेती। इस के अर्थ से हम कह सकते है की नर्स एक कदम आगे है तो माँ के रुप में वे यह नही सोचती है के वे जिसकी सेवा भक्ति का भुगतान कर रही है वह उसका संघर्षपूर्ण जीवन उसके बच्चे का है, या नही वे उम्र, जाती, पंथ या फिर जीवन के कर्मो की प्रवाह नही करती बस वो वाही कार्य करती है जिसकी देखभाल के ली कहा जाता है वे सपूर्ण रूप से ठीक हो जाए तब तक सेवा करती है।

Advertisement

कुछ अर्थ में नर्स को डॉक्टर से भी अधिक अपरिहार्य माना जा सकता है। जिसे वह इस अच्छे काम को करने में सहायता कर रही है। यह बात तो एक दम सत्य है, की जो डोक्टर है वो अपने समय पर सेवा प्रदान करके जीवन को बचा सकते है। लेकिन वह दर्दी को दी गई सेवाओ की अवधि और उपचर प्रकिर्या समाप्त होने तक का समय भी टाला नही जा सकता है। एक तरह से जब डोक्टर की भूमिका ख़तम होती है, तब नर्स का काम शरु होता है। यह वो है जो दर्दी को पूरी तरह से ठीक होने के बाद फिर से अपने पेरो पर खड़ा होने तक दर्दी के साथ रहना पड़ता है। नर्स एक दर्दी के लिए एक माँ की भूमिका निभाती है।

जरुर पढ़े: 12th क्लास के बाद क्या करे पूरी जानकारी अवस्य पढ़े

नर्स बनने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या है? नर्स का कोर्स कितने दिन का होता है?

नर्स बनने के लिए आपको सबसे पहले 10th क्लास पास होने के बाद 11th क्लास में साइंस में बायोलोजी सब्जेक्ट लेना होगा। 12th क्लास पास होने के बाद आपको जनरल नर्सिग मिडवाइफरी (GNM) का कोर्स कर सकते है। GNM एक डिप्लोमा कोर्स है इस कोर्स का समय 3 साल तक का होता है। GNM DIPLOMA कोर्स को पूरा करने के बाद आप किसी हॉस्पिटल या क्लिनिक में नर्स की जॉब्स के लिए अप्लाई कर सकते है। इसके अलावा नर्स बनने के लिए बीएससी नर्सिग कोर्स भी कर सकते है। बीएससी नर्सिंग कोर्स का समय 4 साल तक का होता है। इस कोर्स को करने के बाद आप एमएससी नर्सिंग कोर्स भी कर सकते है। इस कोर्स की समय अविधि मात्र 2 साल की होती है।

नर्स बनने के लिए कुछ नर्सिंग कोर्स है जो आप कर सकते है

Advertisement
  • एएनएम या स्वास्थ्य कार्यकर्ता (ANM)
  • जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (GNM)
  • नर्सिंग में बीएससी (बेसिक)(BSC)
  • नर्सिंग में बीएससी (पोस्ट बेसिक)
  • नर्सिंग में एमएससी (MSC)

जरुर पढ़े: एयर होस्टेस कैसे बने

ANM OR HEALTH WORKER – एएनएम् या स्वास्थ्य कार्यकर्ता

सहायक नर्स मिडवाइफ में कोर्स करने केलिए स्टूडेंट 10th क्लास पास होने चाहिए या फिर 12th क्लास पास होना चाहिए जो यह कोर्स करना चाहते है वो उम्मीदवार को संबंधित संस्था और उपलब्ध सीटो के लिए एंट्र्स एग्जाम के द्वारा इस अभ्यासक्रम में एड्मिसन दिया जाता है। ज्यादा आवेदक होने पर मार्कस के आधार पर एडमिशन दिया जाता है। ANM कोर्स का समय 18 महीने तक का होता है। इस 2 साल को पूरा करने के बाद ही आप किसी भी अस्पताल में सेवा दे सकते है। यह कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में 3-4 हजार रूपये होती है और प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की फीस 10,000 हजार रूपये तक होती है।

GENERAL NURSING AND MIDWIFERY – जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (GNM)

GNM कोर्स करने के लिए यानि जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी में शामिल होने के लिए 11th क्लास में आपको साइंस में जिव विज्ञानं, भौतिक और रसायन विज्ञान जैसे सब्जेक्ट में और 12th क्लास में 50% मार्कस से ज्यादा मार्कस लेने होगे जो भी नर्सिंग कोर्स करने की इच्छा रखता है उन उम्मेदवारो को कोई भी राज्य से और स्वतंत्र स्वास्थ्य शैक्षिक संस्थाओ द्वारा आयोजित एंट्र्स एग्जाम में भाग लेना होगा। आवेदको के पोस्ट के अनुसार उनके साथ जुडी विभिन्न शैक्षिक संस्थाओ में एडमिशन दिया जाता है। यह एग्जाम में-जून में आयोजित की जाती है। और वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रासंगिक सब्जेक्ट पर आधारित प्रश्न होते है। इस एग्जाम का रिजल्ट जून-जुलाई के महीने में आमतौर पर बाहर पड़ता है। एवं कुछ कॉलेज में मार्कस के आधार पर एडमिशन मिलता है। यह कोर्स को पूरा करने में 3 साल जितना समय लगता है। यह कोर्स पूरा होने के बाद आप किसी भी हॉस्पिटल में जॉब करने के लिए अप्लाई कर सकते है और सरकारी हॉस्पिटल में भी जॉब मिल सकती है। इस कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में 30 हजार के आसपास और प्राइवेट कॉलेज में 1 लाख रूपये तक होती है।

Advertisement

जरुर पढ़े: फैशन डिजाइनर कैसे बने

BSC in NURSING – बीएससी नर्सिंग कोर्स

बीएससी कोर्स करने के लिए आपको 10th क्लास के बाद आपको साइंस में जिव विज्ञान, भौतिक और रसायन विज्ञान जैसे main सब्जेक्ट में 12th क्लास में 50% मार्कस के साथ पास होना होगा। जो भी उम्मीदवार इस कोर्स को करने की इच्छा रखते है उन्हें किसी भी राज्य में चिकित्सा शैक्षिक संस्थाओ द्वारा आयोजित एंट्रेस एग्जाम में भाग लेना पड़ता है। आवेदक के पोस्ट अनुसार उससे जुडी विभिन्न शिक्षण संस्थाओ में एडमिशन ले सकता है। यह एग्जाम मेई-जून के महीने में आयोजित की जाती है। यह एग्जाम वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रासंगिक सब्जेक्ट पर आधारित प्रश्न होते है। इन एग्जाम का रिसल्ट जून-जुलाई के महीने में बहार आता है। लेकिन कुछ कॉलेज में एडमिशन मार्कस के आधार पर मिलता है।

यह 3-4 साल के नर्सिंग कोर्स को पूरा करने के बाद नर्स संलग्र अस्पताल एक विकल्प चुन सकते है, और व्यावहारिक प्रशिक्षण के लिए जा सकते है। या फिर प्राइवेट अस्पताल में भी नर्स की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते है। इस कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में 30,000 के आसपास होती है और प्राइवेट कॉलेज में 1 लाख तक होती है।

एमएससी नर्सिंग MSC (MASTR DEGREE of NURSING)

Advertisement

एमएससी नर्सिंग यानि मास्टर डिग्री ऑफ़ नर्सिग का कोर्स करने के लिए आपको बीएससी नर्सिंग की डिग्री लेनी होगी। जो भी आवेदक इस कोर्स को करने की इच्छा रखते है उन्हें एमएससी कोर्स से संबंधित संस्था उपलब्ध सिटी के लिए एंट्रेस एग्जाम के द्वारा इस अभ्यास में एडमिशन दिया जाता है। ज्यादातर आवेदक को मार्कस के हिसाब से एडमिशन मिलता है। यह कोर्स करने के बाद राज्य के किसी भी अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ के लिए अप्लाई कर सकते है। इस कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में 30,000 हजार और कोई भी प्राइवेट कॉलेज 50,000 हजार के आसपास होती है। लेकिन कई स्टूडेंट को उनके अच्छे मार्कस के कारण शिष्यवृत्ति और ट्यूशन फीस भी सरकार की तरफ से मिलती है।

जरुर पढ़े: जानिए मानव शरीर से जुड़े 100 रोचक तथ्य

नर्सिंग कोर्स में प्रवेश कैसे पाए?

  • कोर्स में प्रवेश देने के लिए राज्य/ मेड़िकल यूनिवर्सिटी/ कॉलेजों आदि द्वारा एंट्रेस एग्जाम आयोजित की जाती है।
  • इन प्रवेश परीक्षाओं में अधिकतर 11वीं और 12वीं कक्षा के स्तर के फिजिक्स (भौतिक विज्ञान), केमेस्ट्री , (रसायन विज्ञान) और बायोलोजी, (जीव विज्ञान) सब्जेक्ट के प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • अधिकतर राज्यों में बीएससी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आयोजित की जाने वाली एंट्र्स एग्जाम में 4 ऑप्शन वाले बहुवैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • 2 वर्षीय एएनएम् कोर्स में प्रवेश मेरिट या प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जा सकता है।
  • अगर आप नर्स बनना चाहते हैं तो उपरोक्त 3 स्नातक डिग्री/ डिप्लोमा कोर्सों में से बीएससी कोर्स बहुत ही अच्छा और सर्वश्रेष्ठ है। क्योंकि अधिकतर नियोक्ता नर्स के पद पर नियुक्ति देने के लिए एएनएम् और जीएनएम् कोर्स से अधिक बीएससी (नर्सिंग) कोर्स को प्राथमिकता देते हैं।
  • बीएससी (नर्सिंग) कोर्स करने का फायदा यह भी है कि आप एक स्नातक हो जाते हैं जिसके बाद आप नर्सिंग के क्षेत्र में उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं या आपके समक्ष किसी भी स्नातक डिग्री की योग्यता वाली अन्य नौकरियों का ऑप्शन भी खुल जाता है।
  • AIIMS, CMC, AFMC, JIPMER आदि जाने- माने मेड़िकल संस्थानों में बीएससी (नर्सिंग) कोर्स में एडमिशन हेतू राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं।
  • अतः आप बीएससी सहित अन्य नर्सिंग कोर्सों में प्रवेश पाने के लिए किसी भी राष्ट्रीय या राज्य स्तरीय परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

जरुर पढ़े: बैंक मैनेजर कैसे बने पूरी जानकारी

नर्सिंग कोर्स के लिए मुख्य संस्था

बीएससी नर्सिंग, एमएससी नर्सिंग और अन्य नर्सिंग कोर्सों के लिए भारत के कुछ प्रमुख संस्थान निम्नलिखित हैं।

  • CMC, वेल्लोर
  • JIPMER, पुडुचेरी
  • AIIMS, नई दिल्ली
  • AFMC, पुणे
  • किंग जॉर्ज मेड़िकल कॉलेज, लखनऊ
  • PGIMS, चंडीगढ़; आदि।

भारत के सभी राज्य में नर्सिंग कोर्स और प्रमुख मेडिकल संस्था उपलब्ध है।

नर्स के कार्य क्या होते हे?

नर्सों की कार्यक्षमता के हिसाब से उनकी भूमिकाओं को इस तरह विभाजित किया जा सकता है जैसे जनरल नर्स, ये हॉस्पिटल, नर्सिंग होम और चिकित्सालय संस्थानों में नर्सिंग का कार्य करने वालों को जरनल नर्स कहा जाता है. उनके मुख्य कार्य में मरीजों की देखभाल, डॉक्टर के काम में सहयोग और प्रशासनिक जिम्मेदारियां होती हैं। इसके बाद मिडवाइफ इस श्रेणी में वे नर्स आती हैं जिनकी विशेषज्ञता गर्भवती महिलाओं का ख्याल रखना और चाइल्डबर्थ के दौरान सहायता करना है। इसके अलावा हेल्थ वर्कर के रूप में भी काम करते हैं, ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को स्वास्थसेवा उपलब्ध कराने वाले नर्सिंग से जुड़े लोग हेल्थ वर्कर कहलाते हैं।

जरुर पढ़े: ग्रेजुएशन के बाद क्या करें एमबीए या एमसीए ?

नर्सिंग कोर्स के बाद नौकरी के विकल्प

नर्सिंग का कोई भी कोर्स करने के बाद किसी भी राज्य में नर्सिंग काउंसिल ऑफ़ इंडिया (NCI)में रजिस्टर नर्स के रूप में नियुक्त होने के बाद आप इंडिया में नर्स के लिए नीचे दी गई नौकरियों के विकल्प को चुन सकते है।

Advertisement
  • सरकारी/ प्राइवेट अस्पतालों में नर्स/ स्टाफ नर्स
  • नर्सिंग होम में नर्स
  • फैक्टरियों/ स्कूल/ कॉलेज/ कार्यालयों आदि में नर्स
  • विभिन्न आरोग्य संस्थानों में नर्स
  • किसी क्लिनिक में नर्स
  • वृद्धाश्रमों/ अनाथाश्रमों में नर्स; आदि।

दुनियाभर में नर्स की भारी मांग है। नर्स की नौकरी के लिए भारत बाहर के देशो में भी बहुत मांग है जैसे की ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, इंग्लेंड, न्यूजीलेंड आदि देशो नोकरी के लिए अप्लाई कर सकते है। भारत के किसी भी अच्छी संस्था से नर्सिंग की डिग्री हासिल की है और आपको अंग्रेजी भाषा अच्छे से आती है तो आप किसी भी देश में नर्स की नौकरी कर सकते है। अगर आप आर्मी में नर्स की नोकरी करना चाहते है तो भी कर सकते है।

नर्स की सैलरी कितनी होती है? ( Nurse Salary)

आम जनता के बिच स्वास्थ्य सेवाओ की बढती जागरूकता और चिकित्सा सेवाओ के सामान्य विकास के साथ इस क्षेत्र में नर्सिंग पेशावर के लिए गुंजाईश तेजी से बढ़ रही है। भारत में केंद्रीय या किसी राज्य सरकार के अधीन अस्पताल में नर्स के तौर पर नियुक्त होते हैं तो आपको सातवें वेतन आयोग के मानकों के अनुसार शुरुआती सामान्य वेतन 44,900 रूपये सभी देय भत्तों के रूप में वेतन मिलेगा। अगर आप किसी प्राइवेट या निजी जॉब के लिए नियुक्त होते हैं तो आपकी सैलरी आपकी शैक्षिक योग्यता, एक्सपीरियंस, नियोक्ता के नियम और शर्तों पर निर्भर करती है।

जरुर पढ़े: पीएचडी क्या है? कैसे करे पूरी जानकारी

नर्स का कार्यक्षेत्र

नर्सिंग का कार्यक्षेत्र केवल दर्दी की देखभाल करने तक ही सीमित नहीं है। योग्य नर्सों के लिए एजुकेशन, ऐडमिन और रिसर्च से संबंधित काम के भी मौके मिलते हैं। जानकार इस बात को मानते हैं कि नर्सिंग से जुड़े लोग बेरोजगार नहीं रहते. वे किसी भी प्राइवेट या सरकारी हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, अनाथालय, वृद्धाश्रम, इंडस्ट्रीज, सेनेटोरियम और सैन्य बलों में भी जॉब प्राप्त कर लेते हैं। इनके अलावा अन्य सरकारी विभागों में इनकी बहुत जरूरत होती है।

अगर आप नर्सिंग के सामन्य कोर्स के अलावा पोस्‍ट बेसिक स्‍पेशियेलिटी एक वर्षीय डिप्‍लोमा कोर्स करते हैं तो निचे दिऐ गऐ क्षेत्रों में विशेषज्ञता हासिल कर लेने पर रोजगार के अवसर और अधिक बढ जाते हैं जैसे कि,

  • न्यूरो नर्सिंग
  • नियो नेटाल नर्सिंग
  • ऑन्कोलॉजी नर्सिंग
  • नर्सिंग शिक्षा
  • मनोरोग नर्सिंग
  • क्रिटिकल केयर नर्सिंग
  • विकलांग देखभाल नर्सिंग
  • ऑपरेशन रूम नर्सिंग
  • कार्डिएक थोरैसिक नर्सिंग
  • मिड वाईफाई प्रैक्टिशनर नर्सिंग
  • आपातकालीन और आपदा नर्सिंग

जरुर पढ़े: आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कैसे बने?

नर्स से जुड़े कुछ सवाल और उनके सही जवाब:

नर्स का काम क्या होता है?

ज्यादातर देखा जाये तो Nurse एक महिला Staff होती है जो हॉस्पिटल के मरीजों (जो पीड़ित होते हे वेसे लोग) की देखभाल करने का मुख्य काम करती है। डॉक्टर के ऑपरेशन करने के बाद किसी भी मरीज को कुछ दिनों के लिए हॉस्पिटल में ही रखा जाता है, उन दिनों में मरीज की टाइम से दवा देना, सही सुजाव देना और सेहत का ख्याल Nurse ही करती हैं और मरीज के परिवार के सदस्यों को भी उस मरीज के सेहत की जानकारी के बारे में भी बताती हैं।

नर्सिंग करने के लिए क्या क्या करना पड़ता है?

नर्स बनने के इच्छुक उमेदवार विभिन्न स्तरों से Nursing Course की  शुरुआत कर सकते हैं. इसके लिए देखा जाये तो सहायक नर्स मिडवाइफ / हेल्थ वर्कर कोर्स किया जा सकता है. इस डिप्लोमा नर्सिंग कौर्स की अवधि करीबन डेढ़ साल है और कमसे कम योग्यता दसवीं पास है, इसके अलावा आप साढ़े तीन साल का GNM कोर्स भी कर सकते हैं।

Last Final Word :

दोस्तों, हम उम्मीद करते है की नर्स कैसे बने की पूरी जानकारी के बारे में इस आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा जैसे की नर्स बनने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या है?, नर्सिंग कोर्स में प्रवेश कैसे पाए?, नर्सिंग कोर्स के लिए मुख्य संस्था, नर्स का कार्य, नर्सिंग कोर्स के बाद नौकरी के विकल्प, नर्स की सैलरी, नर्स का कार्यक्षेत्र जैसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement