General Knowledge

मंदी और तकनीकी मंदी के बीच क्या अंतर होता है?

Advertisement

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India, RBI) के नवम्बर में मासिक बुलेटिन के अनुसार भारत तकनिकी रूप से मंदी में प्रवेश कर चूका है। एसा इसीलिए कहा जा रहा है क्योकि दो क्वार्टर के लिए GDP बढ़ने की जगह घट रही है। चलिए दोस्तों! अब इस आर्टिकल को पूरा पढते है और जानते है की तकनिकी मंदी क्या है? और मंदी (Recession) और तकनीकी मंदी (Technical Recession) के बीच क्या अंतर होता है?

GDP किसी भी देश की आर्थिक सेहत को मापने का सबसे जरुरी पैमाना है। भारत में GDP की गणना हर तीसरे महीने यानि तिमाही के आधार पर होती है। ध्यान देने वाली बात यह है की ये उत्पादन या सेवाएं देश के भीतर ही होनी चाहिए।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने नवंबर के मासिक बुलेटिन के अनुसार वित्तीय वर्ष 2020-21 दूसरी तिमाही यानि की जुलाई से सितंबर में भारतीय अर्थव्यवस्था के GDP में 8.6% का संकुचन दर्ज किया जा सकता है। पहली बार RBI ने ‘नाउकास्ट’ (Nowcast) अपने मासिक बुलेटिन में जारी किया है। इसके मुताबिक मौजूद वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में भी अर्थव्यवस्था में संकुचन हो सकता है।

Advertisement

एसा जानने में आया है की अन्य संस्थानों द्वारा फोरकास्ट (Forecast)जारी किया जाता है लेकिन, RBI ने पहली बार आधुनिक प्रणाली का उपयोग करके नाउकास्ट को जारी किया है। इसमें निकट के भविष्य में अर्थव्यवस्था की स्थिति के बारे में बताया गया है। इस तरह के नाउकास्ट में वर्तमान की ही बात की जाती है।

मौजूदा वित्तीय वर्ष (अप्रैल से जून) की पहली तिमाही में भी भारतीय अर्थव्यवस्था के GDP में 23.9% का संकुचन दर्ज किया गया था। एसा जानने में आया है की यह बीते एक दशक में भारतीय अर्थव्यवस्था का सबसे ख़राब प्रदर्शन था।

तकनिकी मंदी क्या है? (What is a Technical Recession?)

जब आर्थिक क्रियाओ में महत्वपूर्ण संकुचन होता है तो एसी स्थिति को मंदी कहा जाता है। अर्थशास्त्र में तकनीकी मंदी भी एक प्रकार की मंदी है। जब किसी देश की अर्थव्यवस्था में निरंतर दो तिमाही तक संकुचन हो रहा हो, इस शब्द का प्रयोग तब होता है। आमतौर पर GDP के रूप में ही वस्तुओ और सेवाओ का सारा उत्पादन मापा जाता है। जब की एक तिमाही से दूसरी तिमाही तक बढ़ता है तो उसे अर्थव्यवस्था के विस्तार की अवधि के रूप में माना जाता है।

जब की मंदी की अवधि इसके विपरीत होती है। इसीलिए इसमें वस्तुओ और सेवाओ का सारा उत्पादन एक तिमाही से दूसरी तिमाही में कम हो जाता है। एसे यह दोनों स्थितियाँ एक साथ जुड़कर अर्थव्यवस्था में ‘व्यापार चक्र’ (Business Cycle) को बनाता है।

Advertisement

अगर आप ज्यादा जानना चाहते है तो आपको यह बता दे की जो कोई अर्थव्यवस्था में मंदी की अवधि लंबे समय तक रहती है तो एसा कहा जाता है की अर्थव्यवस्था में मंदी की स्थिति आ गई है। मतलब की जब GDP किसी अर्थव्यवस्था में एक लंबे समय तक संकुचित होती रहती है तो एसा माना जाता है की अर्थव्यवस्था मंदी में पहुच गई है।

तकनिकी मंदी शब्द मुख्य रूप से GDP में प्रवृत्ति को पकड़ने के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन एसा कुछ स्पष्ट नहीं है की कितने समय तक अर्थव्यवस्था में संकुचन को मंदी कहा जायेगा और यह भी तय नहीं है की GDP मंदी को निर्धारण करने का एक ही उपाय है।

मंदी और तकनीकी मंदी के बिच क्या अंतर होता है?

– किसी अर्थव्यवस्था में मंदी की अवधि बहुत समय तक रहने से उसको मंदी के नाम से जाना जाता है और जब किसी देश की अर्थव्यवस्था में दो तिमाहियों से लगातार संकुचन देखने को मिल रहा हो उस स्थिति को तकनीकी मंदी कहा जाता है।

– आर्थिक विशेषज्ञों के अनुसार, मंदी में आर्थिक गतिविधियों में एक व्यापक गिरावट को संदर्भित करती है, जिसमे कई आर्थिक कारक जैसे रोजगार, घरेलु और कोर्पोरेट आय, उपभोग व्यय आदि शामिल है, जब की तकनीकी मंदी में मुख्य रूप से GDP में प्रवृत्ति को पकड़ने के लिए उपयोग किया जाता है।

– मंदी लंबे समय तक और तकनीकी मंदी कम समय तक रहती है।

Advertisement

– मंदी किसी एक घटना या कारक के कारण नहीं होती है और तकनीकी मंदी किसी घटना विशेष के कारण उत्पन्न होती है, वर्तमान में तकनीकी मंदी का कारण कोविड-19 महामारी और उससे निपटने के लिए लगाया गया सख्त लोकडाउन है।

भारत के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने उम्मीद जताई है की भारत सकारात्मक विकास वर्तमान तिमाही में कर सकता है। इस कोविड-19 महामारी के तहत मंदी में से बाहर निकलने के लिए किसी भी अर्थव्यवस्था का मुख्य हेतु यह अत्यधिक संक्रामक चेपी रोग के प्रसार को नियंत्रित करना है।

Last Final Word

हमने आपको इस आर्टिकल से जुडी सारी जानकारी दे दी है, जैसे की ‘मंदी और तकनीकी मंदी क्या है?’ और उन दोनों के बीच अंतर क्या है? आदि। अगर आपको इस आर्टिकल से जुड़ा कोई भी प्रश्न हो, आप कमेंट बोक्स में बता सकते है।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आसानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते है ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट करके हमे बता सकते है, धन्यवाद्।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement