Career Guide

Loco Pilot कैसे बने पूरी जानकारी

Advertisement

नमस्कार दोस्तों! आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे की Loco Pilot कैसे बने और उसकी पूरी प्रक्रिया जैसे की लोको पायलट क्या होता है, Loco Pilot बनने के लिए पात्रता क्या चाहिए, लोको पायलट की आयु सीमा कितनी होगी , Loco Pilot की सैलरी कितनी होती है आदि के बारे में विस्तृत में जानेंगे। सरकारी नौकरी की बात करने पर ज्यादातर छात्रों टीचर, प्रोफेसर या फिर IAS ऑफिसर बनने का ही सोचते है। लेकिन इसके आलावा भी और बहोत सारी अच्छी जॉब है जिससे आपका भविष्य सुनहरा बन सकता है। आपके लिए Loco Pilot भी एक बहोत अच्छा विकल्प है जिसके लिए आपको उच्च अभ्यास (Higher Studies) जैसे की ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की भी जरुरत नहीं है। सबसे पहले आपकी लोको पायलट के पद पर भर्ती नहीं होगी, इसके लिए आपको सबसे पहले असिस्टंट लोको पायलट बनना होगा और उसके बाद सीनियर असिस्टंट लोको पायलट और फिर फाइनली आपको लोको पायलट की नौकरी मिल जाएगी। लेकिन इसके लिए आपको परीक्षा देनी बहोत ही जरुरी है। यह पूरी जानकारी आपको हमारे इस आर्टिकल Loco Pilot कैसे बने में मिलेगी। इसलिए हमारा यह आर्टिकल जरुर पढ़ें।

जरुर पढ़ें: रेलवे में टिकट कलेक्टर कैसे बने?

Loco Pilot क्या है? (What is Loco Pilot?)

दोस्तों आप सभी ने रेल की मुसाफ़री तो की ही होगी। रेल मुसाफ़री करने का जो आनंद होता है वह बहोत ही सुनहरा होता है। तो जो व्यक्ति रेल को चलाता है उसे ही Loco Pilot कहते है। यह एक सरकारी नौकरी है जो Indian Railway (भारतीय रेलवे) के अंतगर्त आती है। Loco Pilot का पद ग्रुप सी में आता है। भारतीय रेल दुनिया के सबसे बड़े पांच रेल नेटवर्क में से एक है। जिससे रोजाना लाखों मुसाफिर यात्रा करते है। इसलिए लोको पायलट का पद बहोत ही जिम्मेदारी वाला होता है क्योंकि लाखों मुसाफिरों की सुरक्षा इनके हाथो में होती है।

Advertisement

ट्रेन चलाने के साथ-साथ Loco Pilot को और भी बहोत सी चीजें है जो सिखाई जाती है जैसे की ट्रेन और पटरियों की जाँच करना, छोटी मोटी तकनिकी खराबियों को ठीक करना और साथ ही में ट्रेन इंजन का मेंटेनेंस करना भी सिखाया जाता है। यह सब सिखाने का एक ही मतलब है की आपातकालीन स्थिति में भी लोको पायलट बिना गभराएँ परिस्थिति से आसानी से निपट सके।

आप ये मत समजना की लोको पायलट पद सिर्फ पुरुषो के लिए ही है क्योंकि भारतीय रेलवे में बहोत साडी ईएसआई महिलाएं भी है जो लोको पायलट बनकर अच्छी तरह से अपना कर्तव्य निभा रही है। और यह काम महिलाएं सालों से कर रही है।

भारत की पहली महिला Loco Pilot सुरेखा शंकर यादव जी है जिन्होंने अपना कार्य साल 1988 में शुरू किआ था।

जरुर पढ़ें: महत्वपूर्ण भारतीय रेलवे सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

Advertisement

Loco Pilot बनने के लिए योग्यता क्या क्या होनी चाहिए? (Eligibility to Become a Loco Pilot)

लोको पायलट बनने के लिए सबसे पहले आपको 10th कक्षा पास करना बहोत ही जरुरी है।

यह जरुरी है की आपने जिस विद्यालय से 10th कक्षा पास की है वह मान्यता प्राप्त विद्यालय होनी चाहिए। अगर आप चाहे तो 12th कक्षा के बाद भी डिप्लोमा कोर्स कर सकते है लेकिन इस तरह पढाई करने से आपको दो साल और पढना पड़ेगा।

10th कक्षा पास करने के बाद आपको आईटीआई या फिर पोलिटेक्निक कॉलेज से 2 साल का  डिप्लोमा कोर्स करना होगा। यह डिप्लोमा कोर्से आप इलेक्ट्रॉनिक, ऑटोमोबाइल, मेकेनिकल या इलेक्ट्रिकल विषयों से भी कर सकते हैं। आप जिस संस्था से डिप्लोमा कोर्स कर रहे है वह संस्था NCVT, SCVT, या AICTE से मान्यता प्राप्त संस्था होनी चाहिए।

लोको पायलट बनने के लिए क्या Qualifications होनी चाहिए? (Qualification of Loco Pilot)

आपने लोको पायलट के लिए शैक्षिक योग्यता तो जान ही ली है। लेकिन शैक्षिक योग्यता के आलावा भी कुछ ऐसी क्वालिफिकेशन है जो एक लोको पायलट के उम्मीदवार में होनी चाहिए।

  • उम्मीदवार की नजर कमजोर नहीं होनी चाहिए। विजन 6/6 होना चाहिएऔर कलर ब्लाइंडनेस भी नहीं होनी चाहिए।
  • उम्मेदवार को शारीरिक और मानसिकस्वास्थ्य के रूप से पूरी तरह स्वस्थ होना चाहिए।
  • इसके अलावा किसी भी तरह की गंभीर बीमारी जैसे की दहोरे पड़ना, हार्ट प्रॉब्लम और मानसिक प्रॉब्लम नहीं होनी चाहिए।
  • लोको पायलट बनने के लिए मिनिमम और मैक्सिमम हाइट का कोई नियम नहीं है पर उम्मीदवार का वजन, लंबाई के अनुपात में ही होना चाहिए।

जरुर पढ़ें: Indian Air Force Officer कैसे बने पूरी जानकारी

Advertisement

लोको पायलट की आयु सीमा कितनी होगी? (Loco Pilot Age Limit)

  • असिस्टेंट Loco Pilot बनने के लिए आयु सीमा 18 वर्ष से 28 वर्ष तक होती है।
  • सरकारी नियम धोरण के अनुसार आरक्षित वर्ग और Ex serviceman उम्मीदवारों को आयु सीमा में छूट भी दी जाती है।

लोको पायलट की Selection Process

असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए RRB यानि रेल्वे रिक्रूटमेंट बोर्ड की तरफ से भर्ती बहार पड़ती हैं।

उम्मीदवारों को अपनी योग्यता सुनिश्चित करके आवेदन फॉर्म जमा करना पड़ता है। इसके कुछ समय बाद एडमिशन कार्ड भी जारी किए जाते हैं जिसमें एग्जाम का सेंटर दिया जाता है। RRB लोको पायलट की परीक्षा तीन चरणों में आयोजित करता है। यह तीनों चरणों की विस्तृत में जानकारी निचे दी गयी है।

लोको पायलट एग्जाम का पहला चरण

  • पहले चरण में कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट होता है यानि CBT टेस्ट।
  • CBT पेपर 1 घंटे का होता है जिनमें 75 सवाल पूछे जाते हैं। ये MCQ टाइप के प्रश्न होते हैं। ये सारे question गणित, रीजनिंग, जनरल अवेयरनेस और साइंस के होते हैं।
  • इस परीक्षा में न्यूनतम मार्क्स लाने पर ही आप अगले चरण में जा सकते हैं। ये न्यूनतम मार्क्स इस तरह हैं :
  1. जनरल – 40%
  2. ओबीसी एवं एससी – 30%
  3. एसटी – 25%

जरुर पढ़ें: CCC Course के बारे में पूरी जानकारी

लोको पायलट एग्जाम का द्वितीय चरण

Advertisement
  • यह भी CBT यानि कंप्यूटर आधारित परीक्षा होती है, लेकिन द्वितीय चरण की एग्जाम को दो भागों में बांटा जाता है A और B.
  • भाग A में कुल 100 प्रश्न होते हैं इसके लिए आपको 90 मिनट का समय दिया जाता है। इसमें गणित, करंट अफेयर्स, रीजनिंग और बेसिक इंजीनियरिंग से जुड़े सवाल होते हैं।
  • भाग B टेक्निकल विषयों पर निर्धारित होता है। इसमें कुल 75 प्रश्न होते हैं इसके लिए आपको कुल एक घंटे का ही समय दिया जाता है। इस पेपर में उम्मीदवारों के पढ़े हुए विषय यानि की विद्यालय के पुस्तक में से प्रश्न पूछे जाते हैं। आपने जिस फील्ड की पढ़ाई की होती है उस सेक्शन के सवाल हल करने देते हैं। यानि की ऑटोमोबाइल डिप्लोमा किए हुए उम्मीदवारों को ऑटोमोबाइल से जुड़े प्रश्न हल करने होंगे और इलेक्ट्रानिक्स वाले उम्मीदवारों को इलेक्ट्रानिक्स से लगते प्रश्न हल करने होंगे।
  • जो उम्मीदवार द्वितीय चरण में 35% मार्क्स लाते हैं वो तीसरे चरण के लिए क्वालीफाई होते हैं।

लोको पायलट एग्जाम का तीसरा चरण

  • लोको पायलट एग्जाम का तीसरे चरण में CBAT यानि computer based aptitude test आता है।
  • इस टेस्ट को पर्सनालिटी टेस्ट या फिर साइकोलॉजिकल टेस्ट भी कह सकते हैं।
  • इसमें उम्मीदवार की पर्सनालिटी, मुश्किल समय में निर्णय लेने की क्षमता और ईमानदारी जैसे पहलू चेक किए जाते हैं।
  • तीसरे चरण में पास होने के लिए आपको 42% मार्क्स लाने होते हैं।
  • पहले और दूसरे चरण में माइनस मार्किंग की पध्धति है लेकिन तीसरे चरण में माइनस मार्किंग की पध्धति नहीं है।

लोको पायलट एग्जाम का चौथा चरण

  • लोको पायलट के चौथे चरण में डॉक्युमेंट्स का वेरिफिकेशन होता है।
  • तीनो चरण की एग्जाम पास किये हुएसभी उम्मीदवारों के ओरिजनल डॉक्युमेंट्स की बारीकी से जांच की जाती है और योग्य पाए गए उम्मीदवारों को पांचवें चरण में भेजते है।

लोको पायलट का पांचवां और आखिरी चरण

  • लोको पायलट का पांचवां और आखिरी चरणमेडिकल फिटनेस टेस्ट है।
  • जैसा कि आपने हमारे यह आर्टिकल में आगे पढ़ा होगा की लोको पायलट का काम बहुत ही जिम्मेदारी वाला होता है। इसलिए उम्मीदवार का मेडिकल टेस्ट करना जरुरी है।
  • शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से पूरी तरह हेल्धी उम्मीदवारों का ही सिलेक्शन होता है। मेडिकल फिटनेस के नियम की जानकारी हम आपको इसी आर्टिकल में दे चुके हैं।

लोको पायलट एग्जाम के पांच चरणों को पार करने के बाद असिस्टेंट लोको पायलट के पद पर आपकी भर्ती हो जाएगी और ट्रेनिंग भी शुरु हो जाती है।

जरुर पढ़ें: SSC एग्जाम की तैयारी कैसे करें पूरी जानकारी

ट्रेनिंग पूरी करने के बाद आपको सबसे पहले मालगाड़ी चलाने का मौका मिलता है। इसमें मालगाड़ी चलाने के बाद आपका एक्सपीरियंस बढ़ जाता है और फिर आपको पैसेंजर ट्रेन चलाने की अनुमति दियी है।

जब उम्मीदवार सफलतापूर्वक अपने दिए गये काम में 10 साल पूरे कर लेता है तब उसे सुपरफास्ट ट्रेन जैसे कि राजधानी और शताब्दी जैसी ट्रेन चलाने का मौका दिया जाता है।

लोको पायलट की सैलरी कितनी होती है? (Loco Pilot Salary)

  • लोको पायलट की सैलरी 5200-20,200 और ग्रेड पे 19000 रुपए तक का होता है।
  • इसके अलावा लोको पायलट को टीए, डीए, नाइट ड्यूटी भत्ता, ओवरटाइम, रनिंग अलाउंस जैसे आकर्षक भत्ते भी मिलते हैं।
  • रनिंग भत्ता का मतलब है हर 100 किलोमीटर की दूरी तय करने पर 100 रुपए का अलाउंस (भत्ता) मिलता है।
  • इसके अलावा लोको पायलट को रेलवे की और से हाउस क्वार्टर या हाउस का रेंट अलाउंस भी दिया जाता है।
  • सरकारी जॉब होने की वजह से Loco Pilot को पेंशन, चिकित्सा सुविधा और समय-समय पर होने वाले वेतन वृध्धि के हकदार भी होते हैं।
  • यदि इन सब भत्ते की गिनती की जाए तो असिस्टेंट लोको पायलट 40,00,000 से 50,000 रुपए महीना कमाते हैं। वहीं लोको पायलट महीने का 1 लाख रुपए तक कमाते हैं।

जरुर पढ़ें: एयर होस्टेस कैसे बने

Advertisement
Last Final Words :

दोस्तों, हम उम्मीद करते है की Loco Pilot कैसे बने पूरी जानकारी के बारे में इस आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा जेसे की Loco Pilot क्या है?, लोको पायलट बनने के लिए योग्यता, लोको पायलट बनने के लिए क्या Qualifications होनी चाहिए?, लोको पायलट की आयु सीमा कितनी होगी?, लोको पायलट की Selection Process, लोको पायलट की सैलरी कितनी होती है? जैसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement