Career Guide

ग्रेजुएशन के बाद क्या करे?

Advertisement

भारत के ज्यादा ग्रेजुएट स्टूडेंट इस उल्जन में रहते है की वे ग्रेजुएशन के बाद क्या करे। कोई ग्रेजुएशन के बाद पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स करना चाहते है तो कोई ग्रेजुएशन के बाद नौकरी करना चाहता है। अगर आपको समज नही आ रहा है, और आप जानना चाहते है की ग्रेजुएशन के बाद क्या करे तो हमारे इस आर्टिकल में हम आपको भारत में मोजूद कोर्स और नौकरी के विकल्पो के बारे में जानकारी देंगे। भारत में अनेक विषयो से किये जाने वाले ग्रेजुएशन कोर्स को ध्यान में रखते हुए यहाँ पर हम आपको ऐसे कोर्स और नौकरीओ के ऑप्शन के बारे में बताएंगे जो किसी भी ग्रेजुएशन कोर्स के बाद किया जा सकता है, और साथ ही ऐसी जॉब और कोर्स के बारे में भी बताएंगे जो किसी विशिष्ट सब्जेक्ट ग्रेजुएट स्टूडेंट कर सकते है। ग्रेजुएशन के बाद क्या करे जॉब/कोर्स इसकी पूरी जानकारी के लिए हमारे आर्टिकल को एंड तक पढियेगा जरुर। ग्रेजुएशन में आपने चाहे कोई भी सब्जेक्ट ले के डिग्री पास की हो, भारत में एसी कही सारी नौकरिया है, जिनके लिए कोई भी ग्रेजुएट स्टूडेंट अप्लाई कर सकता है। अगर आप इंजिनियर है या फिर आपने बीए कोर्स किया है या बीसीए से ग्रेजुएशन किया है तो आप ऐसे अनेक सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई करने के योग्य हो जाते है सरकारी नौकरीया किसी भी सब्जेक्ट में ग्रेजुएट स्टूडेट के लिए होती है। हम आपको जानकारी देंगे की भारत में किसी भी सब्जेक्ट में ग्रेजुएशन के बाद कौनसी नौकरी उपलब्ध है।

जरुर पढ़ें : नोटरी वकील कैसे बने?

भारत में ग्रेजुएशन के बाद उपलब्ध नौकरियाँ:

आईएएस या आईपीएस (केन्द्रीय सिविल सेवा परीक्षा)

भारत देश में किसी भी सब्जेक्ट में ग्रेजुएट स्टूडेट के लिए उपलब्ध सरकारी नौकरिया यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाने वाली सिविल सेवा एग्जाम के माध्यम से नियोक्त होने वाले आईएएस,आईपीएस आदि की पोस्ट का प्रथम स्थान होता है। भारत देशमे आयोजित की जाने वाली सारी परीक्षाओ में से सबसे मुश्किल एग्जाम में से एक है। और उसके माध्यम से केंद्र सरकार के अलग अलग विभागों में सीधा ग्रुप-A अधिकारी के रूप में सिलेक्ट किये जाते है, और इन एग्जाम से किसी भी पार्ट में सिलेक्ट ऑफिसर अपनी नौकरी के अंत तक उस विभाग के उच्ची पोस्ट तक उच्च होद्दे पर रह सकते है। सिविल सर्विस एग्जाम भारत में केंद्र सरकार के विभाग में सर्वोच्च पदो पर सिलेक्ट होने का और नौकरी करने का सुनहरा अवसर देता है।

Advertisement

एसडीएम या डीएसपी (राज्य सिविल सेवा परीक्षा)

ग्रेजुएट स्टूडेंट के लिए उच्च सरकारी पद पर नियुक्त होने के लिए यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा दुसरे स्थान पर है, राज्य लोक सेवा आयोगों द्वारा आयोजित की जाने वाली राज्य सिविल सर्विस एग्जाम, को पीसीएस एग्जाम भी कहा जाता है। PCS एग्जाम के जरिये से एसडीएम और डीएसपी के अलावा संबंधित राज्य सरकार के अधीन आने वाले कही विभागों के ग्रुप -A पर ग्रुप B राजपत्रित ऑफिसर के रूप में सिलेक्ट किया जाता है। अगर आप राज्य सिविल सर्विस एग्जाम के माध्यम से एसडीएम या डीएसपी के पद पर नियोक्त होते है तो कुछ वर्ष की नौकरी के उपरांत पदोन्नति के माध्यम से आपके पास क्रमश IAS और IPS नौकरी के सुनहरे अवसर मिल सकते है।

रक्षा सेना में ऑफिसर

सीधा ग्रुप -ऐ ऑफिसर के रूप में सिलेक्ट होने का सवाल है, तो स्नातक स्टूडेंट के लिए इस विभाग में 3 ओप्शन है, सिडीएस एग्जाम के ज़रिये से रक्षा सेनाओ जैसे की आर्मी, एयरफोर्स, नेवी में अधिकारी बन सकते है। संध लोक सेवा आयोग यानि यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाने वाली कंबाइंड डिफेन्स सर्विसेज (सीडीएस) एग्जाम के माध्यम से स्टूडेंट की शरुआती सिलेक्ट आर्मी में लेफ्टिनेट, एयरफोर्स में फ़्लाइंग ऑफिसर और नेवी में सब -लेफ्टीनेट के रूप में किया जाता है। एयर-फ़ोर्स और नेवी में सेलेक्शन के लिए केवल साइंस सब्जेक्ट से ग्रेजुएट या इंजीनियरिंग ग्रेजुएट ही योग्य हो सकता है। मगर सीडीएस एग्जाम के जरिये से आर्मी में लेफ्टिनेंट बनने के लिए किसी भी सब्जेक्ट से स्नातक स्टूडेंट Eligible होते है।

जरुर पढ़ें : MTech कोर्स की पूरी जानकारी

केंद्र सशस्त्र पुलिस बलों में सब-इंस्पेक्टर

ग्रेजुएट स्टूडेंट के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और केन्द्रीय या राज्य पुलिस विभाग में सब-इंस्पेक्टर के पद पर सिलेक्ट होने का ऑप्शन भी प्राप्त होता है, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल बीएसएफ, सीआरपीएफ, सीआईएसऍफ़ आदि और केंद्र सरकार के अधीन दिल्ली पुलिस से सब-इंस्पेक्टर की नियुक्ति के लिए एक ही संयुक्त एग्जाम आयोजित की जाती है। इस एग्जाम को सब-इंस्पेक्टर इन दिल्ली पोलिस एंड सेंट्रल आर्म्ड पोलिस फोर्सेस एग्जाम कहा जाता है और यह एग्जाम भी केन्द्र्य कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) द्वारा आयोजित की जाती है। इस प्रकार प्रत्येक राज्य अपने पुलिस विभाग से सब-इंस्पेक्टर की पोस्ट पर सिलेक्ट के लिए अपनी अलग एग्जाम का आयोजन करते है जिनके लिए कोई ग्रेजुएट स्टूडेंट अप्लाई कर सकते है।

Advertisement

भारतीय रेलवे विभाग में स्टेशन मास्टर एवं अन्य पद

ग्रेजुएट स्टूडेंट के सामने रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली “आरआरबी, एनटीपीसी एग्जाम ” के माध्यम से इंडियन रेलवे डिपार्टमेंट में असिस्टेंट स्टेशन मास्टर एवं अन्य कई पदों पर नियुक्ति का ऑप्शन भी उपलब्ध है।

बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर और क्लर्क

अगर आप एक ग्रेजुएट स्टूडेंट हैं तो आपके लिए भारतीय स्टेट बैंक सहित भारत के सभी सार्वजनिक बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर (PO) या क्लर्क के पद पर सिलेक्ट होने का ऑप्शन भी उपलब्ध है। भारत के सार्वजनिक बैंकों में सिलेक्शन के लिए आप एसबीआई पीओ एग्जाम, एसबीआई क्लर्क एग्जाम, आईबीपीएस पीओ एग्जाम, आईबीपीएस क्लर्क एग्जाम, आईबीपीएस आरआरबी एग्जाम आदि के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इंटेलिजेंस ऑफिसर (INTELLIGENCE BURO)

ग्रेजुएट स्टूडेंट के लिए इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) में असिस्टेंट सेंट्रल इंटेलिजेंस ऑफिसर (ऐसीईओ) के पद पर नियुक्ति का ऑप्शन भी मौजूद है। इस पद पर सिलेक्ट होने के लिए आपको “IB ACIO एग्जाम ” के लिए अप्लाई करना होता है।

राज्य सरकार के अधीन विभिन्न नौकरिया

ऊपर दीगऐ नौकरियों के ऑप्शन के अलावा सभी राज्य सरकार किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट के लिए अपनी अधीन सरकारी विभाग में ग्रुप-B और ग्रुप-C पोस्ट पर सिलेक्शन के लिए समय समय पर विज्ञापन निकालती रहती है। अलग अलग राज्य सरकार के अलग अलग पोस्ट पर कोई भी ग्रेजुएट स्टूडेंट अप्लाई कर सकते है। जैसे टैक्सेशन इंस्पेक्टर (राज्य GST इंस्पेक्टर), फ़ूड एंड सप्लाई इंस्पेक्टर, पटवारी (लेखपाल), फोरेस्ट रेंजर आदि कुछ उच्च पद पर है।

Advertisement

कुछ विशिष्ट विषयों के ग्रेजुएशन कोर्स के बाद सरकारी नौकरिया

हम आपको ग्रेजुएशन के बाद उपलब्ध कुछ ऐसी सरकारी नौकरियों के बारे में बताएंगे जिनके लिए किसी विशिष्ट सब्जेक्ट या सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट ही अप्लाई कर सकते हैं। इन पोस्ट के लिए सभी स्नातक अभ्यर्थी या किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट योग्य नहीं हो सकते हैं। तो जानते हैं कुछ विशिष्ट विषयों से ग्रेजुएट स्टूडेंट के लिए उपलब्ध सरकारी नौकरियों के ऑप्शन के बारे में।

जरुर पढ़ें : RAS Officer कैसे बने?

न्यायाधीश

भारतीय न्यायपालिका में न्यायाधीश का पद सर्वोच्च होता है। भारत में न्यायाधीश बनने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता LLBनिर्धारित की गयी है। अगर आप न्यायाधीश बनना चाहते हैं तो आपको एक LAW ग्रेजुएट होना पड़ेगा या सीधे शब्दों में कहें तो ग्रेजुएशन के बाद तिन वर्षीय एलएलबी कोर्स या 12th क्लास के बाद पांच वर्षीय बीए.एलएलबी कोर्स करना होगा। एलएलबी करने के बाद आप संबंधित राज्य में “जज सर्विस एग्जाम ” के माध्यम से न्यायाधीश सिलेक्ट हो सकते हैं। यदि आप सुप्रीम कोर्ट से लेकर जिला एवं सत्र न्यायालय तक जज बनने की सम्पूर्ण नियुक्ति प्रक्रिया जानना चाहते हैं तो आप हमारा आर्टिकल “जज कैसे बने ” पढ़ सकते हैं। और साथ ही LLB कोर्स से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप हमारा आर्टिकल “एलएलबी क्या है” पढ़ सकते हैं।

वकील (Lawyer)

अगर आप एक एलएलबी ग्रेजुएट है, तो आपके सामने सरकारी वकील के रूप में नोकरी पाने का ऑप्शन भी है भारत केंद्र सरकार और अलग अलग राज्य सरकार के अधीन अनेक विभाग में सरकारी वकील (पब्लिक प्रोसिक्यूटर) का सिलेक्शान किया जाता है।

डॉक्टर

एमबीबीएस, बीएएमएस, बीडीएस, बिएचएमएस आदि डॉक्टरी ग्रेजुएशन कोर्स करने के उपरांत स्टूडेंट के पास कई केंद्रीय और राज्य सरकारी विभागों में डॉक्टर/ मेडिकल ऑफिसर के पोस्ट पर सिलेक्शन के ऑप्शन मौजूद होते हैं। डॉक्टर बनने से संबंधित प्रक्रिया और जानकारी के लिए आप हमारे आर्टिकल “डॉक्टर कैसे बनें” पढ़ सकते हैं।

Advertisement

इंजीनियर

यदि आप एक इंजीनियरिंग ग्रेजुएट (बी.इ /बी.टेक ) है, तो आपके समक्ष अलग अलग केंद्रीय और राज्य सरकार के विभागों में इंजीनियर सिलेक्शन होने का ऑप्शन है। आप यूपीएससी द्वारा आयोजित “इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा” के माध्यम से अलग अलग केंद्रीय विभागों में सीधा ग्रुप-ऐ इंजीनियर अधिकारी सिलेक्ट हो सकते हैं या एसएससी द्वारा आयोजित की जाने वाली “एसएससी की एग्जाम ” के माध्यम से केंद्रीय विभागों में जूनियर इंजीनियर के पोस्ट पर सिलेक्ट हो सकते हैं। इन पदों के अलावा एक इंजीनियरिंग ग्रेजुएट विभिन्न राज्य सरकारों के कई विभागों में भी असिस्टेंट इंजीनियर या जूनियर इंजीनियर के पोस्ट पर सिलेक्शन पा सकते हैं। इंजीनियर बनने की प्रक्रिया से सबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे आर्टिकल “इंजीनियर कैसे बनें” पढ़ सकते हैं।

जरुर पढ़ें : इंटरव्यू की तैयारी कैसे करे?

ग्रेजुएशन के बाद किये जाने वाले अलग अलग कोर्स

अगर आपको ग्रेजुएशन के बाद पढाई करनी है नौकरी नही करनी है तो हम आपको ग्रेजुएशन के बाद किये जाने वाले अलग अलग कोर्स के बाद भारत में प्राप्त अलग अलग पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स के बारे में बताएँगे।

एम.एससी (M.SC)

एमएससी (मास्टर ऑफ़ साइंस ) दो साल का पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है जिसे साइंस सब्जेक्ट से ग्रेजुएट या बीएससी डिग्री धारक स्टूडेंट ही यह कोर्स कर सकते है। साइंस सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट अपनी ग्रेजुएशन के साइंस सब्जेक्ट में से किसी एक सब्जेक्ट में एमएससी कर सकते है। भारत में एमएससी मुख्य फिजिक्स, कैमिस्ट्री, जिव विज्ञानं, वनस्पति विज्ञान बायोटेक्नोलॉजी, आदि सब्जेक्ट से कीया जा सकता है। किन्तु भारत के ज्यादातर विश्वविध्यालय में आप उसी सब्जेक्ट में एमएससी कोर्स में एडमिशन ले सकते है, जो आपने बीएससी स्तर तक पढ़ रखा है।

एम.कॉम (M.COM)

एमकॉम यानि मास्टर ऑफ़ कॉमर्स यह 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है। जो बीकॉम डिग्री धारक स्टूडेंट ही कर सकते है। बीकॉम डिग्री धारक के सामने M.COM के रूप में एक पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री कोर्स करने का विकल्प शामिल है।

एमए (M.A)

एमए (मास्टर ऑफ़ आर्ट्स ) यह कोर्स 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है, ओर M.A कोर्स में प्रवेश पाने के लिए किसी भी सब्जेक्ट से तिन या चार साल का ग्रेजुएशन डिग्री धारक स्टूडेंट ही अप्लाई कर सकते है। अगर आपने बीए, बीकॉम, बीएससी में से कोई भी ग्रेजुएशन कोर्स किया है तो आप एमए कोर्स में एडमिशन पाने के लिए अप्लाई कर सकते है,भारत में M.A कोर्स सब्जेक्ट (हिंदी .अंग्रेजी आदि ) या इतिहास, भूगोल, राजनीती शास्त्र,अर्थशास्त्र आदि सब्जेक्ट में किया जा सकता है।

एम.डी./एम.एस (M.D/M.S)

एमबीबीएस या बीएएमएस आदि डॉक्टर ग्रेजुएशन कोर्स करने के बाद स्टूडेंट डॉक्टरी होद्दे से संबंधित पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करने के लिए योग्य होते है। स्वास्थय से संबंधित मेडिकल पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स को एम.डी (डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन) या एम.एस (मास्टर ऑफ़ सर्जरी )कहा जा सकता है। M.D एंड M.S दोनों ही कोर्स 3 साल के पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है, लेकीन यह कोर्स केवल मेडिकल क्षेत्र में ग्रेजुएट स्टूडेंट ही कर सकते है।

एम.टेक (MTech)

अगर आपने 5 साल बी.आर्क (B.Arch.) कोर्स किया है, और आप उसके बाद पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहते है तो आप एम.आर्क (M.arch)के रूप में आर्किटेक्चर में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कर सकते है, लेकिन M.Archकोर्स भी केवल आर्किटेक्चर सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट ही कोर्स कर सकते है।

Advertisement

एम.फार्मा (M.Pharma)

फार्मसी से ग्रेजुएट स्टूडेंट के लिए एम्.फार्मा के रूप में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स का ऑप्शन भी मोजूद है, लेकिन यह कोर्स भी बी.फार्मा डिग्री धारक स्टूडेंट के अलावा अन्य सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट नही कर सकते है।

एमबीए (MBA)

एमबीए कोर्स 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स होने के साथ साथ एक नौकरी देने वाला कोर्स भी है। और इस कोर्स के बाद सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र में नौकरीयो के बहुत ज्यादा उपलब्धता को देखते हुए भारत में एमबीए कोर्स एक अत्यंत लोकप्रिय पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है। भारत के ज्यादातर कॉलेज में एमबीए कोर्स में एडमिशन लेने के लिए किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट अप्लाई कर सकते है। एमबीए संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमारे आर्टिकल “एमबीए क्या है और एमबीए कैसे करे” पढ़ सकते है।

एमसीए (M.C.A)

एमसीए या मास्टर ऑफ़ कम्प्यूटर एप्लीकेशन कोर्स 3 साल का पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है। यह कोर्स भी जॉब के लिए अनुकूल कोर्स है, और इस कोर्स के बाद नौकरी के बहुत ज्यादा ऑप्शन मोजूद है, इस के कारण यह भी एक लोकप्रिय कोर्स में से एक कोर्स माना जाता है। भारत में ज्यादा तर विश्वविध्यालय में एमसीए कोर्स में एड्मिशन पाने के लिए शैक्षिक योग्यता बीसीए या बीटेक (कम्प्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग) या मैथ्स सब्जेक्ट सहित बीए, बीएससी, बीकॉम है। अगर आप बीसीए डिग्री धारक है या कम्प्यूटर इंजीनियरिंग डिग्री धारक नही है तो एमसीए में एडमिशन लेने के लिए आपको पोस्ट ग्रेजुएशन में मैथ्स सब्जेक्ट होना बहुत ही जरुरी है।

बीएड (B.ED)

बीए, बीकॉम, या फिर बीएससी की डिग्री प्राप्त करने वाले स्टूडेंट लिए बीएड करने का एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन उपलब्ध है। अगर आप भारत के किसी भी स्कूल में एक टीचर बनना चाहते है, तो इसके लिए आपको बीएड या कोई समकक्ष कोर्स करना आवश्यक है। वैसे तो बीएड कोर्स एके ग्रेजुएट कोर्स ही है लेकिन यह कोर्स आप बीए, बीकॉम, बीएससी डिग्री पास करने के बाद ही कर सकते है।

जरुर पढ़ें : भारत का परिचय

कुछ विशिष्ट सब्जेक्ट के ग्रेजुएशन कोर्स के बाद प्राइवेट जॉब

अब हम आपको आपकी ग्रेजुएशन डिग्री के अनुसार प्राइवेट नौकरियों के ऑप्शन के बारे में बताएंगे यह नौकरियों के कुछ विशिष्ट ग्रेजुएशन डिग्री धारको के लिए ही मौजूद होती है। और उन विशिष्ट ग्रेजुएशन कोर्स के अलावा किसी भी अन्य सब्जेक्ट से ग्रेजुएट स्टूडेंट नौकरियों के लिए योग्य नही होते है।

चार्टर्ड अकाउंटेंट या सीए (Chartered accountant (C.A)

अगर आपने 12th क्लास के बाद या फिर ग्रेजुएशन के बाद चार्टर्ड एकाउंटेंट का कोर्स सफल कर लिया है, तो आपको भारत की किसी भी कंपनी या फेक्ट्री या फर्म में चार्टर्ड एकाउंटेंट के रूप में अपना ऑफिस भी खोल सकते है और एक साथ कई कंपनियों को अपनी सेवाए दे सकते है। सीए कोर्स और चार्टर्ड एकाउंटेंट की जानकारी के लिए आप हमारी वेबासाइट पर जाके “सीए कैसे बने” के आर्टिकल को पढ़ सकते है।

फैशन डिजाइनिंग

अगर आपने फैशन डिजाईनिग या फैशन टेक्नोलोजी में ग्रेजुएशन कोर्स किया है, तो आपके सामने किसी फैशन डिजाईनिग कंपनी में नौकरी करने का या अपना फैशन स्टोर खोलने का ऑप्शन उपलब्ध है। फैशन डिजाईनिग और फैशन डिजाइनर बनने के लिए हमारे आर्टिकल को पढ़े “फैशन डिजाइनर कैसे बने”।

पत्रकार (Journalist)

अगर आपने पत्रकारिता (मॉस कम्युनिकेशन) में ग्रेजुएशन कोर्स किया है, तो आप अलग अलग न्यूज, चेनल, मैगज़ीन या समाचार पत्रों में पत्रकार के रूप में जॉब करने का अवसर मिल सकता है। पत्रकार बनने एवं पत्रकार से संबंधित पूरी जानकारी के लिए आप हमारे आर्टिकल “पत्रकार कैसे बने” को पढ़ सकते है ।

होटल मैनेजर (Hotel Manager)

बीएससी (होटल मेनेजमेंट) कोर्स करने वाले स्टूडेंट के लिए देश विदेश के होटलो में शेफ या मैनेजर के पद पर जॉब प्राप्त करने का ऑप्शन उपलब्ध है। अगर आप भी होटल मेनेजमेंट सब्जेक्ट से ग्रेजुएट है। तो आप भी भारत के किसी भी होटल में मैनेजमेंट या शेफ के पद पर अप्लाई कर सकते है।

डॉक्टर (Doctor)

एमबीबीएस डिग्री करने के बाद आप केवल सरकारी नौकरी ही नही भारत के बड़े से बड़े और छोटे प्राइवेट अस्पताल में भी चिकित्सक के रूप में नौकरी कर सकते है और सेवा दे सकते है MBBS डिग्री करने के बाद एक डॉक्टर के सामने अपना स्वयं का होस्पिटल या क्लिनिक खोल नेका ऑप्शनभी उपलब्ध है।

इंजिनियर (Engineer)

बी.इ /बीटेक डिग्री धारको के लिए इंजिनियर के रूप में गवरमेंट जॉब प्राप्त करने के अलावा किसी प्राइवेट कंपनी या फैक्ट्री में भी इंजिनियर के रूप में जॉब करने का ऑप्शन उपलब्ध है।

वकील (Lawyer)

वकालत की पढाई या एलएलबी डिग्री प्राप्त करने के उपरांत आप एक वकील के रूप किसी निजी वकालत फर्म में जॉब कर सकते है। और अगर आप नौकरी नही करना चाहते और स्वतंत्र वकील रूप में अपनी निजी प्रक्टिस भी कर सकते है।

जरुर पढ़ें : NCC क्या है? कैसे जॉइन करे?

भारत में उपलब्ध किसी भी कंपनी में प्राइवेट जॉब

प्राइवेट बैंक में जॉब

अगर आप एक सामान्य ग्रेजुएट है तो आपके लिए प्राइवेट जॉब के ऑप्शन में से सबसे बेहतर ऑप्शन है। किसी प्राइवेट बैंक में जॉब करना। किसी भी प्राइवेट बैंक में जॉब करके आप एक अच्छा और बेहतर कैरियर बना सकते है। इस में मात्र बेसिक ग्रेजुएट ही नही परन्तु बीबीए, बीसीए और यहा तक की कुछ इंजिनियर ग्रजुएट भी प्राइवेट बैंको में उपलब्ध अनेक कैरियर ऑप्शन में से किसी भी जॉब को प्राप्त करने का प्रयास करते है।

इंश्योरेंस क्षेत्र में नौकरी

प्राइवेट बैंको के अलावा इंश्योरंस क्षेत्र में जॉब पाने का बहुत ही अच्छा ऑप्शन ग्रेजुएट स्टूडेंट के सामने मोजूद है।भारत में उपलब्ध अलग अलग जीवन बिमा और जनरल बिमा कंपनी के सेल्स मार्केटिंग या प्रशासन विभाग में अपनी योग्यता के अनुसार अप्लाई कर सकते है।

मार्केटिंग के क्षेत्र में नौकरी

अगर अपने किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन की है। लेकिन अगर आपके पास किसी कंपनी के लिए उनके उत्पाद बाजार में या सीधा ग्राहक को बचने या बिकवाने की कला है तो आप किसी भी कंपनी के मार्केटिंग या सेल्स विभाग में जॉब कर सकते है ज्यादा तर किसी भी कंपनी द्वारा मार्केटिंग या सेल्स विभाग में BBAया MBAडिग्री धारको को जॉब देने का प्रयास किया जाता है।

अन्य जॉब्स एवं ऑप्शन

अगर आप ग्रेजुएट स्टूडेंट है तो आपके लिए नौकरी के अन्य ऑप्शन भी उपलब्ध है। अगर आप जानकारी चाहते है तो आपके सामने मर्चेट नेवी में नौकरी करना भी एक बेहतर ऑप्शन है।

जरुर पढ़ें : सम्राट अशोक का जीवन परिचय

Last Final Word :

दोस्तों, हम उम्मीद करते है की ग्रेजुएशन के बाद क्या करे के बारे में इस आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा जैसे भारत में ग्रेजुएशन के बाद उपलब्ध नौकरियाँ, राज्य सरकार के अधीन विभिन्न नौकरिया, कुछ विशिष्ट विषयों के ग्रेजुएशन कोर्स के बाद सरकारी नौकरिया, ग्रेजुएशन के बाद किये जाने वाले अलग अलग कोर्स, कुछ विशिष्ट सब्जेक्ट के ग्रेजुएशन कोर्स के बाद प्राइवेट जॉब, भारत में उपलब्ध किसी भी कंपनी में प्राइवेट जॉब, अन्य जॉब्स एवं ऑप्शन जैसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी करियर & रोजगार और सामान्य अध्ययन, सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement