Career Guide

कॉलेज प्रोफेसर कैसे बने?

Advertisement

नमस्कार दोस्तों! पढाई हमारी जिंदगी का बहुत जरुरी हिस्सा है। लाइफ में कुछ बनने के लिए या फिर एक सफल इंसान बनने के लिए पढाई कितनी जरुरी है। यह एक पढ़ा लिखा व्यक्ति ही समज सकता है। कुछ लोग को पढाई इतनी पसंद होती है की वे आगे जा के टीचिंग की लाइन में अपना कैरियर बनना चाहते है, यानि एक टीचर बनना चाहते है। कुछ लोगो को पढने में इतना इंटरेस्ट होता है की वह आगे जा के कॉलेज में एक प्रोफेसर बनना चाहते है। अगर आप एक कॉलेज प्रोफ़ेसर बनना चाहते है तो उनकी पूरी जानकारी होनी बहुत ही जरुरी है, तो आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको कॉलेज प्रोफेसर की पूरी जानकारी देंगे की प्रोफ़ेसर क्या होता है? (What is Professor) प्रोफ़ेसर कैसे बने (How to become a College Professor) प्रोफेसर की सैलरी क्या होती है?, प्रोफ़ेसर बनने के लिए कोनसी पढाई करे इस सभी जानकारी के लिए आप इस आर्टिकल को अंत तक पढियेगा।

जरुर पढ़े: पीएचडी क्या है? कैसे करे पूरी जानकारी

कॉलेज प्रोफ़ेसर कैसे बने? (How to Become a College Professor)

कॉलेज प्रोफ़ेसर को लेक्चरर भी कहा जाता है वर्तमान में शिक्षा क्षेत्र में कैरियर बनाने एवं कमाने का सबसे प्रचलित तरीका शिक्षक या प्रोफ़ेसर बनना है। इस क्षेत्र समाज में सम्मान भी मिलता है। वह इसलिए क्योकि समाज को मार्ग दिखाने में शिक्षको का अहम् योगदान होता है। एक शिक्षक आनेवाली भविष्य की पीढ़ी को तैयार करता है। यानि की प्राचीनकाल से ही शिक्षको को उचित एवं स्टिक मार्ग दिखाने वाला माना गया है। इस कारण से गुरु को इश्वर माना जाता है।क्योकि इश्वर तक पहुचने का रस्ता गुरु ही बताते है। कॉलेज प्रोफ़ेसर बनना एक सेवा का कार्य है। कॉलेज प्रोफ़ेसर किसी एक विषय में स्पेश्यालिस्ट होता है और एक प्रोफ़ेसर बनने के लिए आपको काफी ज्यादा मेहनत करनी होगी और मन लगाके पढाई में ध्यान देना होगा एक प्रोफ़ेसर बनने के लिय आपको कही सारे एग्जाम क्लियर करने पड़ते है। फिर जा के आपको असिस्टंट प्रोफ़ेसर की जॉब मिलती है। कॉलेज में एक्सपीरियंस मिलने के बाद आपको प्रोफसर की पोस्ट दि जाती है। भारत में कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के लिए आपको नेट (NET) एग्जाम देनी पड़ती है।

Advertisement

कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के लिए पात्रता मानदंड (Eligibility Criteria to become a College Professor)

जो भी स्टूडेंट कॉलेज प्रोफ़ेसर बनना चाहते सर्वप्रथम इस बात का निरिक्षण करना चाहिए की क्या वे प्रोफ़ेसर बनने के लिए न्यूनतम पात्रता मानको पर खरा उतरता है की नही। व्यक्ति को यह जाँचना होगा की क्या उसके पास UGC द्वारा निर्धारित मानदंडॉ के मुताबिक प्रोफ़ेसर बनने के लिए आवश्यक डिग्री है। शेक्षिक योग्यता के अलावा स्टूडेट को प्रतिस्पर्धी परिक्षा भी पास करनी होती है। प्र्तिस्पिधी एग्जाम में भाग लेने से पहले स्टूडेंट को अपनी शेक्षिक योग्यता एवं उम्र संबंधित पात्रता की जाँच करनी चाहिए।

जरुर पढ़े: आईपीएस अधिकारी कैसे बने पूरी जानकारी

कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने की योग्यता क्या है? (What are the qualifications to become a college professor?)

भारत में कॉलेज प्रोफ़ेस बनने के लिए कुछ निर्धारित प्रतिशत के साथ मास्टर डिग्री होनी बहुत ही आवशयक है। परन्तु सामाजिक श्रेणी के आधार पर अलग हो सकती है। जनरल केटेगरी से ताल्लुक रखने वाले आवेदको के लिए मास्टर डिग्री में कम से कम 55% मार्कस होने आवश्यक है और अनुसूचित जाती/जनजाति इत्यादि से संबंधित आवेदकों के लिए मास्टर डिग्री में कम से कम 50% मार्कस होने चाहिए।

प्रोफ़ेसर बनने के लिए उम्र सीमा (age limit to become a professor)

भारत में प्रोफेसर बनने के लिए किसी भी प्रकार की कोई उपरी आयु सीमा निर्धारित नही होती है। क्योकि कई लोग ऐसे होते है जो अन्य नौकरियों से अनुभव प्राप्त करने के बाद इस होद्दे को सिलेक्ट करते है। लेक्चरर बनने के लिए UGC नेट की तैयारी करके इसमें क्वालीफाई करना होता है। जो की बेहद लम्बी प्रक्रिया होती है। शायद यही कारण है की UGC द्वारा प्रोफ़ेसर बनने के लिए कोई उपरी आयु निर्धारित नही की गई है।

Advertisement

जरुर पढ़े: ग्रेजुएशन के बाद क्या करें एमबीए या एमसीए ?

कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के लिए प्रतिस्पर्धी परीक्षा

जो भी स्टूडेट कॉलेज प्रोफेसर के तौर पर अपना कैरियर बनाना चाहते है उनके लिए कुछ प्रतिस्पर्धा परीक्षा में उपस्थित होना जरुरी है जो निचे दिए गये है।

UGC नेट (नेशनल एलिगिबिलिटी टेस्ट)

नेशनल एलिगिबिलिटी टेस्ट को UGC नेट के नाम से जाना जाता है। यह प्रतिस्पर्धी परीक्षा होती है। जिसे यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन यानिUGC द्वारा आयोजित किया जाता है। यूजीसी के द्वारा स्वीकार किये गए उम्मीदवारों की कॉलेज प्रोफेसर की पोस्ट पर नियुक्ति हो सकती है। हालांकि शरुआत में असिस्टेट प्रोफ़ेसर की पोस्ट पर नियुक्त किया जाता है। पहले यूजीसी नेट की एग्जाम साल में 2 बार आयोजित की जाती थी लेकीन जब से SBSI ने इसका कार्यभार संभाला है तब से इस एग्जाम का समय तय नही किया गया है।

GET (GRADUATE APTITUDE TEST in ENGINEERING)

Advertisement

ग्रेजुएशन एप्टीट्युड टेस्ट इन इजीनियरिंग को शॉट में गेट के नाम से भी जाना जाता है, जिस प्रकार सामान्य शेक्षणिक संस्थानो में प्रोफेसर की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकार से इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रोफ़ेसर की आवश्यकता होती है। इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रोफ़ेसर बनना चाहते है। वे स्टूडेंट को गेट टेस्ट को क्वोलीफाई करना होता है। यह कॉम्पीटीटीव एग्जाम गेट कमीटी (जिसमे IISC बैगलोर और IIT के सभी सदस्य शामिल होते है।) द्वारा आयोजित की जाता है। गेट स्कोर का उपयोग आवेदक पीएचडी करने के लिए भी कर सकता है। पीएचडी के रूप में अपने शोधपत्र प्रकाशित के बाद आवेदक IIT में प्रोफ़ेसर के लिए आवेदन कर सकते है।

जरुर पढ़े: Income Tax Officer कैसे बने पूरी जानकारी

स्लेट (स्टेट लेवल एलिगिबिलिटी टेस्ट)

स्लेट कॉम्पटीटिव एग्जाम भी यूजीसी द्वारा लियी जाती है। लेकिन यह राज्य स्तरीय कॉम्पेटीटिव एग्जाम होती है, इस लिए यह प्रतिस्पधी एग्जाम पास करने के बाद आवेदक केवल राज्य स्तर के कॉलेज एवं विश्वविद्यालयो में कॉलेज लेक्चरर बनने के लिए अप्लाई कर सकते है। राष्टीय स्तर के कॉलेज में प्रोफ़ेसर बनने हेतु अप्लाई करने के लिए UGC NET की एग्जाम में पास करना बहुत जरुरी है।

सीएसआईआर नेट

Advertisement

सीएसआईआर नेट एग्जाम एक राष्ट्र स्तरीय competitive EXAM है, इसका आयोजन काउंसिल ऑफ़ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (CSIR) द्वारा किया जाता है। यह कॉम्पेटीटिव एग्जाम विज्ञान क्षेत्र को ध्यान में रखकर आयोजित की जाती है, इसमे जिव विज्ञान, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गाणितिक विज्ञान, एवं भूमि विज्ञान जैसे सभी विषय शामिल है। इस competitive exam के आयोजन के पीछे मुख्य मकसद जूनियर रिसर्च फेलोशिप एवं प्रोफ़ेसर की पोस्ट की अप्लाई के लिए पात्रता चेक करनी होती है।

कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के लिए क्या क्या स्किल होनी चाहिए?

उपरोक्त वाक्यों में बताई गई पात्रता संबंधित रुलस एवं कंडीशन अधिकारिक संस्थाओ द्वारा निर्धारित की गई है इसलिए वे सभी आवश्यक है। उन सभी नियम और शर्तो को पूरा करने के बाद कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के इच्छुक उम्मेदवार को अपने अंदर और ज्यादा से ज्यादा स्किल डेवेलोप करने की आवश्कता हो सकती है। नीचे दि गई स्किल एक प्रोफ़ेसर में होनी आवश्यक है :

  • जो भी स्टूडेंट प्रोफ़ेसर बनना चाहते है उनमे पढने का जूनून होना बहुत ही जरुरी है।
  • संबंधित सब्जेक्ट में काफी रूचि होनी चाहिए ।
  • हमेशा कुछ नया सिखने की इच्छा होनी चाहिए ।
  • पढ़ने के लिए नये विचार ढूंढने के हेतु क्रीएटीव दिमाग होना चाहिए ।
  • गहन शोधकता होनी जरुरी है।
  • एक प्रोफ़ेसर को समस्याओ को सोव्ल करने की क्षमता होनी जरुरी है।
  • समय प्रबंधन करना आना जरुरी है।
  • सकारात्मक विचार एवं आत्मविश्वास होना चाहिए।

जरुर पढ़े: अपराध जांच विभाग (सीआईडी) अधिकारी कैसे बने?

कॉलेज लेक्चरर बनने के लिए प्रक्रिया

12th क्लास एग्जाम में सफलता प्राप्त करें

कॉलजे प्रोफेसर की पोस्ट प्राप्त करने वाले स्टूडेट को सबसे पहले 12thक्लास में सफलता प्राप्त करनी होती है और फिर 12thक्लास में अपने पसंदीदार सब्जेक्ट का चुनाव करके 12thक्लास की पढ़ाई की शुरुआत करे ताकि स्टूडेंट 12thक्लास में अच्छे रैंक बनाने में सफल हो सके और कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए की जाने वाली सभी प्रक्रियाओं में शामिल हो सके।

ग्रेजुएट में सफलता प्राप्त करें

12th क्लास की परीक्षा में अच्छे मार्कस से सफलता प्राप्त करने के बाद स्टूडेंट को ग्रेजुएट में प्रवेश लेना होगा। इसके बाद आपने 12th क्लास में जिस विषय में अच्छे मार्कस प्राप्त किये हैं, आप उसी विषय से ग्रेजुएट करें क्योंकि यदि आप ऐसा करेंगे तो आप ग्रेजुएट में भी अच्छी रैंक प्राप्त कर सकेंगे और एक सफल स्टूडेट बन जाएंगे।

पोस्ट ग्रजुएट में सफलता प्राप्त करें

Advertisement

ग्रेजुएट में सफलता प्राप्त कर लेने के बाद आप पोस्ट ग्रेजुएट में प्रवेश ले सकते है। और इसमें आप उसी सब्जेक्ट को सिलेक्ट करें, जिससे आपने ग्रेजुएट किया है, आपको उस सब्जेक्ट का ज्ञान अच्छे से होना चाहिए क्योंकि एक कॉलेज प्रोफ़ेसर का पोस्ट प्राप्त करने के लिए आपको पोस्ट ग्रेजुएट में कम से कम 55% मार्कस प्राप्त करने आवश्यक है, इसलिए आपको इसमें अधिक मेहनत करने की आवश्यकता होगी।

जरुर पढ़े: पत्रकार कैसे बने पूरी जानकारी

यूजीसी नेट परीक्षा को पास करें

पोस्ट ग्रेजुएट में कम से कम 55% मार्कस होने के साथ सफलता प्राप्त कर लेने के बाद आपको आयोजित की जाने वाली UGC NET की एग्जाम में भाग लेना होगा और इस एग्जाम में आपको अच्छे मार्कस के साथ सफलता प्राप्त करनी होगी, क्योंकि, इसके बाद ही आप इसकी आगे की प्रक्रियाओं में भाग ले सकते है। इस परीक्षा का आयोजन वर्ष में 2 बार किया जाता है। जब तक आप NET एग्जाम में सफलता नहीं प्राप्त कर लेते तब तक आप किसी भी कॉलेज के प्रोफेसर नहीं बन सकते है।

एम.फिल या पी.एचडी

कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए आप पोस्ट ग्रेजुएट में सफलता प्राप्त कर लेने के बाद एम्.पीएचआईएल या पी.एचडी का कोर्स करके सफलता प्राप्त कर लें क्योंकि, यदि आपको किसी विषय पर रिसर्च करनी है तो आपको इसके लिए पी.एचडी करना आवश्यक है | पी.एचडी कर लेने वाले अभ्यर्थी के नाम के आगे डॉ. शब्द जुड़ जाता है | इसलिए आप कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए पी.एचडी भी कर सकते है।

कॉलेज प्रोफेसर की सैलरी

एक कॉलेज प्रोफेसर को प्रति महीने 37,400 से 67,000 रूपये के बीच वेतन प्रदान की जाती है। असिस्टेंट प्रोफेसर या कॉलेज लेक्चरर को प्रति माहिने 15,600 से 39,100 के बीच वेतन प्राप्त होता है। इसके साथ ही इस पोस्ट को प्राप्त करने वाले व्यक्ति को अन्य सरकारी सुविधाएँ भी प्रदान की जाती है।

जरुर पढ़े: IAS अधिकारी कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में

कॉलेज प्रोफ़ेसर की जिम्मेदारियां एवं कर्तव्य

एक कॉलेज प्रोफ़ेसर की जिम्मेदारी सिर्फ क्लास रूम में स्टूडेट को पढाने की या फिर लेक्चर देने की नही होती है इसके अलावा भी प्रोफ़ेसर की जिम्मेदारी एवं कर्तव्य इस से अधिक होते है। जैसे की सुपरवाइजिंग, एड्वाइजिंग, रिसर्च, मोनिटरिंग, रिकॉर्ड रखने एवं प्रेजेटेशन संबंधित उनकी जिम्मेदारियों को संभालते है। एक प्रोफ़ेसर द्वारा कीये जाने वाले कर्तव्य निचे दिए गये है।

  • प्रोफ़ेसर का काम अपनी क्लास के लिए लेक्चर एवं प्रयोग तैयार करना है।
  • क्लास के असाईमेंट चेक करना।
  • एग्जाम पेपर तैयार करना, एग्जाम का आयोजन करना, एग्जाम पेपर चेक करना।
  • क्लास के बाहर भी स्टूडेट को सलाह देना।
  • नइ सिखने की तकनीको पर शोध करना और उन्ह स्टूडेट के समक्ष पेश करना
  • स्टूडेट के ग्रेड की बिनती करना
  • सेमिनार आयोजन करना और शेक्षणिक प्रवास का नेतुत्त्व करना।
  • विधार्थी को सलाह देना।
  • ग्रेजुएट स्टूडेट को सुपरवाईज करना और उन्हें उनके रिसर्च के काम में मदद करना।
  • सार्वजानिक लेक्चर स्टूडेंट को देना
  • शिक्षा में विकास के लिए अनुसंधान करना।
  • अकेडमिक जनरल पब्लिकेशन के लिए पेपर लिखना।
  • फंडिंग एजेंसीओ के लिए प्रपोजल पेपर लिखना।

जरुर पढ़े: सरकारी शिक्षक (Government Teacher) कैसे बने?

Last Final Word :

दोस्तों, हम उम्मीद करते है की कॉलेज प्रोफेसर कैसे बने की पूरी जानकारी के बारे में इस आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा जैसे कॉलेज प्रोफ़ेसर कैसे बने?, कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के लिए पात्रता मानदंड, कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने की योग्यता क्या है?, प्रोफ़ेसर बनने के लिए उम्र सीमा, कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के लिए प्रतिस्पर्धी परीक्षा, कॉलेज प्रोफ़ेसर बनने के लिए क्या क्या स्किल होनी चाहिए?, कॉलेज लेक्चरर बनने के लिए प्रक्रिया, कॉलेज प्रोफ़ेसर की जिम्मेदारियां एवं कर्तव्य जैसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement