Career Guide

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स की पूरी जानकारी

Advertisement

नमस्कार, दोस्तों तो आज का यह आर्टिकल है बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के बारे में, तो चलिए जानते है के बायोटेक्नोलॉजी क्या है और बायोटेक्नोलॉजी में अपना करियर कैसे बनाये,  चलिये आगे बढ़ते है बायोटेक्नोलॉजी कोर्स में इंडिया में लगातार विकास हो रहा है। इस क्षेत्र में जॉब पाने के कई सारे चांस है। इसलिए आज हम आपको बायोटेक्नोलॉजी क्या है इसकी पूर्ण जानकारी हमारे इस आर्टिकल Biotechnology in Hindi के ज़रिये आप से पूरे विस्तार में बताने जा रहे है। Biotechnology एक ऐसी टेक्निक होती है, जिसमें जिव धारियों से जो पदार्थ मिलता है, उसका उपयोग करके नए पदार्थ का निर्माण किया जाता है या पदार्थ में सुधार करने के लिए दुबारा सर्च  किया जाता है इसके अन्दर कई क्षेत्र आते है जैसे की पशुपालन, कृषि, स्वाश्थ्य व चिकिस्ता, पर्यावरण, उद्योग आदि। अगर आप ने 12 वीं में साइंस सब्जेक्ट से  किया है, तो बायोटेक्नोलॉजी का यह विकल्प चुनना आपके भविष्य के लिए अच्छा होगा। विद्यार्थी जो Biotechnology Course से अपने जीवन को एक नया मार्ग देना चाहते है, ऐसे विद्यार्थी के लिए यह कोर्स बहुत ही Attractive और सक्सेस से भरे रास्ते खोलते है। इस कोर्स को करने के बाद आप खुद का बेहतरीन भविष्य बना सकते हो। तो चलिए दोस्तों अब आपका बिना वक्त गवाए जान ते लेते है की बायोटेक्नोलॉजी क्या है अथवा बायोटेक्नोलॉजी किसे कहते है। बायोटेक्नोलॉजी क्या है इसको विस्तार से जानने के लिए शुरू से अंत तक यह हमारा आर्टिकल जरुर पढ़े।

बायोटेक्नोलॉजी क्या है? (what is biotechnology in Hindi?)

बायोटेक्नोलॉजी एक साइंस की शाखा है। इस में मेडिकल और कृषि दोनों का स्ट्रीम होता है। Biotechnology एक ऐसी टेक्नोलॉजी होती है जो जैविकता का एक्सपेरिमेंट करने के बाद उसका नया प्रोडक्ट का निर्माण करे। जो वास्तविक प्रोडक्ट से बिलकुल डिफरेंट और बहुत ही बेहतरीन हो। यह टेक्नोलॉजी में जिवाधार्यों से जो पदार्थ मिलते है उसका उपयोग करके एक नए प्रोडक्ट का निर्माण किया जाता है या फिर प्रोडक्ट में सुधार करना होता है। इसके जेसे कई क्षेत्र आते है जैसे की पशुपालन, कृषि, स्वास्थ्य व चिकित्सा, पर्यावरण, उद्योग आदि। अभी हमने आपको बताया की बायोटेक्नोलॉजी क्या होता है(what is biotechnology) अब हम आपको आगे जानकारी देंगे के बायोटेक्नोलॉजी कोर्स क्या है(biotechnology course details in Hindi) और बायोटेक्नोलॉजी के प्रकार क्या-क्या होते है तो चलिए आगे जानते है।

बायोटेक्नोलॉजी के प्रकार:

बायोटेक्नोलॉजी के सामान्यतर चार प्रकार होते है, यह चार प्रकार का विस्तार में विस्तारण निम्न लिखित है :

Advertisement
  1. रेड बायोटेक्नोलॉजी
  2. ग्रीन बायोटेक्नोलॉजी
  3. वाइट बायोटेक्नोलॉजी
  4. ब्लू बायोटेक्नोलॉजी

1. रेड बायोटेक्नोलॉजी (Red Biotechnology)

रेड बायोटेक्नोलॉजी का उपयोग चिकित्सा प्रतिक्रिया और नई दवाइयों (एंटीबायोटिक) को बनाने के लिए किया जाता है। क्षतिग्रस्त मानव ऊतक को पुनर्जीवित करने के लिए स्टेम कोशिकाओं का उपयोग करता है.

2. ग्रीन बायोटेक्नोलॉजी (Green Biotechnology)

यह technic का इस्ताम्नल कृषि क्षेत्र में कीटाणु प्रतिरोधी समाधानों पर शोध और विकास करने के लिए किया जाता है। ग्रीन बायोटेक्नोलॉजी के हिस्से के रूप में, रोग प्रतिरोधी जानवरों के लिए अनुसंधान activities  की जाती हैं.

Advertisement

3. वाइट बायोटेक्नोलॉजी (White Biotechnology)

वाइट बायोटेक्नोलॉजी का उपयोग क्षेत्र में नए नए उपयोगी रसायन के विकास और अनुसन्धान के लिए किया जाता है। वाहनों के लिए नए ईंधन के विकास के लिए किया जाता है.

4. ब्लू बायोटेक्नोलॉजी (Blue Biotechnology)

ब्लू बायोटेक्नोलॉजी जिसे हिंदी भाषा में पित जैव प्रोद्योगिकी कहा जाता है। यह एक जैव प्रोद्योगिक की शाखा होती है और वह कीटाणु जैव प्रोद्योगिक को परिभाषित करती है। कीटाणु में कुछ सक्रिय तत्वों पाए जाते है। वह सक्रिय तत्वों में कृषि का उपयोग होता है तथा मेडिकल चिकित्सा में रिसर्च करने के लिए इस्तमाल होता है।

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स (Biotechnology Course)

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स को आप चार तरह से कर सकते है जो आपको निचे बताये गए है :

Advertisement
  • डिप्लोमा कोर्स (Diploma course)
  • बैचलर डिग्री कोर्स (Bachelor Degree Course)
  • पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स, मास्टर और पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा प्रोग्राम (master or post graduation program)
  • पीएचडी कोर्स (P.H.D course)

इंडिया में मुख्य रूप से कुछ प्रकार के बायोटेक्नोलॉजी कोर्स मोजूद है जिसके बारे में आपको निचे जानकारी दी गई है। इंडिया में कुछ मुख्य बायोटेक्नोलॉजी कोर्स है। आप इसके लायक है तो आप इन कोर्स को कर सकते है।

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स करने के मुख्य कॉलेज

इंडिया की कई फिल्ड इस कोर्स को करवाते है। Biotechnology के अंदर में ग्रेज्युँशन और मास्टर डिग्री कोर्स इंडिया के बहुत सारे संस्था में कराया जाता है। आगे हम आपको बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के कुछ मुख्य कॉलेज के बारे में बता रहे है जहा से आप यह अच्छे से कोर्स को प्राप्त कर सकते है।

  • Devi Ahalya Vishvavidhyalay
  • Indian Institute Of Technology Madras
  • Banaras Hindu Vishvavidhyalay Varansi
  • Institute Of Chemical Technology Mumbai
  • Rajiv Gandhi Institute Of Technology, Biotechnology Pune, Maharashtra

बायोटेक्नोलॉजी में करियर कैसे बनाये?

आपने यह टॉपिक तो ठीक से समज लिया की बायोटेक्नोलॉजी क्या है, परंतु इसमें आप को अपना करियर बनाने के लिए आपको कुछ निपुणताये को पूरा करना होता है जो आप सब को आगे बताई गई है। अन्य प्रमुख विषयों की भांति, इसकी शुरुआत भी 12वीं के बाद ही होती है। प्रमुख कोर्सेज में B.Sc. Biotechnology, B.E Biotechnology, B.Tech Biotechnology, B.Sc. Genetics, B.Sc. Microbiology इत्यादि का नाम लिया जा सकता है। बाद में मास्टर्स डिग्री स्तर पर Biotechnology के कोर्स में दाखिला लिया जा सकता है।

जैसा कि पहले भी उल्लेख किया गया है कि यह रिसर्च आधारित विषय है तो उच्च अध्ययन के लिए विदेशी विश्वविद्यालयों का भी रुख किया जा सकता है और इसके बाद नौकरी पाना कतई मुश्किल नहीं रह जाता है।

आने वाले समय में रोजगार के अवसर बेशक ज्यादा बढ़ने की संभावनाएँ भी विशेषज्ञों द्वारा इस कारण व्यक्त की जा रही है क्योंकि तमाम पश्चिमी देशों की फार्मा कंपनियों को अपने देश के कड़े कानूनों के कारण नई विकसित दवाओं के रिसर्च ट्रायल में न सिर्फ समय और धन बल्कि अन्य परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है।

Advertisement

जबकि यही काम भारत जैसे देशों में कार्यरत कंपनियों में कांट्रेक्ट आधार पर सुगमता से करवाया जा सकता है तो ऐसे युवा जो किन्हीं कारणों से एमबीबीएस डाक्टर बनने का सपना पूरा नहीं कर पा रहे हैं और मजबूरीवश अन्य विषयों की पढ़ाई करने की सोच रहे हैं उनके लिए बायोटेक्नोलॉजी का क्षेत्र आशा की किरण साबित हो सकता है हमारी दुआएं आपके साथ हैं आप जिस भी क्षेत्र में प्रगति करें उसमें हमेशा आप सफल हो।

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के लिए शेक्षणिक योग्यता (Educational Qualification for Biotechnology)

12 वीं कक्षा में आपका बायोलॉजी सब्जेक्ट होना mandatory(अनिवार्य) है और पोस्ट ग्रेज्युँशन में एडमिशन लेने के लिए आपको ग्रेज्युएट होना बहोत जरुरी है। 12 वि करने के बाद आप लोग B.E, B.S.C, B.TECH जैसे कोर्स कर सकते है। ग्रेजुएशन करने के बाद विद्यार्थी मास्टर डिग्री की स्टडी भी कर सकते है। अगर अभी आप मास्टर डिग्री कर रहे हे तो इसके लिए बायोटेक्नोलॉजी या फिर बायोलॉजी में किसी भी एक ब्रांच में से आप ग्रेजुएशन होना जरुरी है। दोस्तों आपके भी मन में अगर यह प्रश्न उठता है कि biotechnology क्या-क्या है. तो यह कोर्स आप 12वीं साइंस स्ट्रीम से करने के बाद कर सकते हैं. साइंस स्ट्रीम में 50% से 60% के मध्य में नंबरों का आना जरूरी है। बायोटेक्नोलॉजी कोर्स की अवधि 3 से 4 साल हो सकती है। वैसे बायोटेक्नोलॉजी Undergraduate Course है।

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स प्रवेश प्रक्रिया (Admission Process Biotechnology Course)

बायोटेक्नोलॉजी में आपको एडमिशन लेने के लिए IIT-JAM, AIEEE, AIIMS इन एग्जाम को देकर आप अपना एडमिशन प्राप्त कर सकते है।

बेंगलुरु बना बायोटेक्नोलॉजी हब:

इंडिया में बेंगलुरु का नाम तेजी से बायोटेक्नोलॉजी हब के रूप से विकसित हो रहा है। यहाँ की Biotechnology कंपनियों का वार्षिक कारोबार डेढ़ हजार करोड़ रुपए के पार हो चुका है। कुछ समय पहले तक यहाँ पर Biotechnology के विविध क्षेत्रों में कार्यरत कंपनियों की संख्या 180 से अधिक थी। ये कंपनियाँ BioAgro, Bioindustry, Bioservices, Biopharma, Bioinformatics, Herbal Products, Biogenetic अथवा Biosimilars, Biomanufacturing, Stem Cells, Regenerative Medicine इत्यादि अग्रणीय स्कोप में कार्यरत हैं।

स्कोप ऑफ़ बायोटेक्नोलॉजी (Scope of Biotechnology)

Biotechnology के क्षेत्र में कई सारे पद होते है जिसमे आप जॉब कर सकते है। आपको पद निम्न लिखित दर्शाए हुए है।

  1. रिसर्च लेबोरेट्री(research laboratory)
  2. हेल्थ केयर सेन्टर(health care center)
  3. फोर्मुटीकल कंपनी(formatical company’s)
  4. एनिमल हसबेंडरी(animal husbandry)
  5. मेडिकल व्रैटिंग(medical wraiting)
  6. फ़ूड मेनुफक्टुरिंग(food manufacturing)
  7. जेनेटिक इंजीनियरिंग(genetic engineering)
  8. आई.टी कंपनी(IT company)

Biotechnology Course के बाद वेतनमान (pay scale after biotechnology)

इस क्षेत्र में आपका पगार धोरण आपकी कार्य की काबिलियत पर, योग्यता के आधार पर निर्भर होता है। स्टार्टिंग में आपको तिस हजार से लेकर एक लाख रुपए या इससे ज्यादा भी मिल सकता है।  B.Tech कोर्स करने के बाद ट्रेनी के द्वारा आपको प्राइवेट इंस्टिट्यूट में 25 हजार से लेकर 30 हजार रुपए प्रत्येक महीने तक का ऑफर मिलता है।  रिसर्च असिस्टेंट  एव रिसर्च ट्रेनी पूर्ण करने के बाद अगर आप साइंटिस्ट के फिल्ड में काम कर रहे है तो आपका पगार 50 हजार रुपिये होता है।  अगर आपका उसमे अनुभव ज्यादा है तो आपको उसके हिसाब से आपकी पगार ज्यादा हो जाती है।

Last Final Word :

बायोटेक्नोलॉजी में आप खुदका उज्जवल भविष्य बनाने की कई सारी संमभावनाए है। आज के दोर में कई सारे एरिया में इसका एक्सपेरिमेंट किया जाने लगा है, अपनी कुशलता के आधार पर आप किसी भी पद पर कार्य किया जा सकता है अथवा आप एक उच्च पद और नाम के बेईस पर पैसे भी कमा सकते है। और हम आशा करते है की बायोटेक्नोलॉजी कोर्स की माहिती आपके लिए बहुत उपयोगी होगी और आपको इस जानकारी के माध्यम से Biotechnology course को पूर्ण करने में आपको सफलता मिल जाएगी।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

Advertisement

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement