Career Guide

BHMS Course की पूरी जानकारी

Advertisement

नमस्कार दोस्तों! आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे की BHMS कोर्स क्या है और BHMS Course से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी विस्तुत में जानेगे। मेडिकल क्षेत्र में डॉक्टर बनने की चाहत आजकल हर किसी को होती है। लेकिन जैसे जैसे समय बीत रहा है इसमें स्पर्धा ज्यादा बढ़ गयी है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको Medical के तीसरे सबसे बड़ी फील्ड के एक कोर्स के बारे में जानकारी देंगे। आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि बी.एच.एम.एस कोर्स क्या है? (What Is BHMS Course), बी.एच.एम.एस कोर्स के लिए योग्यता क्या क्या है?, बी.एच.एम.एस कोर्स कैसे करे?, बी.एच.एम.एस कोर्स की प्रवेश प्रक्रिया, बी.एच.एम.एस कोर्स के बाद आगे की पढ़ाई कैसे करे? (Further Studies After BHMS Course), बी.एच.एम.एस कोर्स के बाद करियर और जॉब के ऑप्शन (Career And Job After BHMS Course) बी.एच.एम.एस कोर्स के बाद सैलरी और बैचलर ऑफ़ होम्योपैथिक मेडिसिन और सर्जरी कोर्स के बारे में सभी जानकारी।

BHMS क्या है? (What is BHMS?)

बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी कोर्स पांच साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है, जो होम्योपैथिक दवाओं और जानकारी के बारे में ज्ञान प्रदान करती है। 5.5 साल के समय का यह कोर्स होता है जिसमे 4.5 साल तक पढाई करनी होती है और एक साल का इंटर्नशिप होता है, छात्रों के लिए अस्पतालों में इंटर्नशिप करना आवश्यक है।

होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली एलोपैथी प्रणाली से बिल्कुल अलग है और शरीर की प्राकृतिक उपचार प्रक्रिया में दृढ़ता से विश्वास करती है। होम्योपैथी दवाएं इस तरह से काम करती हैं कि वे शरीर की प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली को सक्रिय करती हैं, उनके अनुसार उपचार भीतर (आंतरिक) से होता है न कि बाहरी रूप से। चिकित्सा क्षेत्र दुनिया भर में बहुत लोकप्रियता हासिल कर रहा है क्योंकि ये दवाएं की डोज़ की मात्रा कम होती हैं और प्रकृति की गोद में पाए जाने वाले प्राकृतिक उत्पादों से बनी हैं।

Advertisement

बीएचएमएस कोर्स करने के बाद आप होम्योपैथिक मेडिकल क्षेत्र में डॉक्टर बन जाते है। और इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है। BHMS कोर्स में आपको थिओरेटिकल पढाई के साथ साथ प्रैक्टिकल पढाई भी करनी होती है।

BHMS कोर्स का फुल फॉर्म (BHMS Course Full Form)

BHMS कोर्स का फुल फॉर्म English में “Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery” होता है। और हिंदी में बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी कहते है।

BHMS Course की मुख्य विशेषता

नीचे दी गई टेबल में BHMS कोर्स के बारे में सभी महत्वपूर्ण डिटेल्स दी गयी है :

कोर्स का नामबैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी
संक्षिप्त नामBHMS

स्तर

Advertisement

अंडरग्रेजुएट

कोर्स का प्रकारस्नातक पाठ्यक्रम
डिग्रीबैचलर
Relevant Streamसंबद्ध स्वास्थ्य विज्ञान / आयुष

कोर्स अवधि

5 वर्ष

परीक्षा का प्रकार

सेमेस्टर वाइज

Advertisement

कोर्स की फीस

INR 20,000/- से 3,00,000/-

न्यूनतम योग्यता

10+2

न्यूनतम प्रतिशत50% से 60%

चयन प्रक्रिया

Advertisement

मेरिट के आधार पर / प्रवेश परीक्षा

औसत प्रारंभिक वेतनINR 3,00,000 प्रति वर्ष से 12,00,000 प्रति वर्ष
रोजगार के अवसरहोम्योपैथिक डॉक्टर, होम्योपैथिक सलाहकार, टीचिंग क्षेत्र, फार्मासिस्ट, बीमा अधिकारी, रिसर्च प्रोफेशनल, मार्केटिंग स्पेशलिस्ट

BHMS कोर्स के लिए योग्यता क्या क्या है? (Bachelor of Homeopathic Medicine & Surgery Eligibility Criteria)

बीएचएमएस कोर्स के लिए पात्रता मानदंड नीचे दर्शाया गया है।

  • उम्मीदवार की आयु कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए।
  • आवश्यक न्यूनतम योग्यता: हाई स्कूल में मुख्य विषय के रूप में जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भौतिकी के साथ विज्ञान स्ट्रीम में 10 + 2 में उत्तीर्ण।
  • आवश्यक न्यूनतम अंक (कुल): 50% से 60%, पासिंग मार्क्स अलग अलग कॉलेज पर निर्भर करते है।
  • आयु सीमा: BHMS कोर्स के लिए आयु सीमा सामान्य वर्ग के लिए 22 वर्ष और आरक्षित वर्ग (SC/ST/OBC) के लिए 24 वर्ष है।

बीएचएमएस प्रवेश प्रक्रिया (Admission Process for BHMS Course)

  • डायरेक्ट एडमिशन : अधिकांश कॉलेजों में, बीएचएमएस cours में प्रवेश उम्मीदवार के 10 + 2 परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर किया जाता है।
  • प्रवेश परीक्षा के माध्यम से निर्देश: कुछ कॉलेजों में, उम्मीदवारों का चयन कॉलेज / राज्य स्तरीय प्रवेश परीक्षा में प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है इनमें से कुछ कॉलेज चयन प्रक्रिया के एक भाग के रूप में समूह चर्चा और व्यक्तिगत साक्षात्कार के दौर भी आयोजित करते हैं।
  • बीएचएमएस Course में छात्रों का Selection उनके Performance के आधारित होता है। जैसे आपके 12 वीं कक्षा के मार्क्स, प्रवेश परीक्षा का मेरिट लिस्ट और आखिर में आपका इंटरव्यू लिया जाएगा। इसके बाद ही आपका प्रवेश आपकी मनपसंद कॉलेज या यूनिवर्सिटी में मिलता है।

टॉप बीएचएमएस कोर्स प्रवेश परीक्षा (Top BHMS Course Entrance Exams)

BHMS के लिए लोकप्रिय प्रवेश परीक्षा निम्नलिखित हैं:

  • नीट प्रवेश परीक्षा
  • पीयू सीईटी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट
  • एपी प्रवेश परीक्षा

बी.एच.एम.एस. कोर्स फीस (BHMS Course Fee)

सरकारी और निजी कॉलेज में बी.एच.एम.एस पाठ्यक्रम के लिए फीस नीचे उल्लिखित है:

संस्थान का प्रकार

न्यूनतम वार्षिक फीस

अधिकतम वार्षिक फीस

सरकारी या अर्धसरकारी कॉलेज

Advertisement

Rs 20,000/-

Rs 50,000/-

प्राइवेट कॉलेज

Rs 1,00,000/-

Rs 3,00,000/-

BHMS सिलेबस (BHMS Syllabus)

प्रथम वर्ष (1.5 वर्ष):

चिकित्सा की उत्पत्तिहोम्योपैथिक फार्मेसीएनाटॉमी और हिस्टोलॉजी
होम्योपैथिक दवाहोम्योपैथिक मटेरिया मेडिकाचिकित्सा का अंग

द्वितीय वर्ष (1.5 वर्ष):

होम्योपैथिक दर्शन के सिद्धांतहोम्योपैथिक चिकित्साफोरेंसिक दवा
विकृति विज्ञानशल्य चिकित्साटॉक्सिकोलॉजी

अंतिम वर्ष (1.5 वर्ष):

पेडियाट्रिक्समाइक्रोबायोलॉजीभ्रूणविज्ञान
Community Medicineस्त्री रोगबाल चिकित्सा

बीएचएमएस के बाद कोर्स

बीएचएमएस में स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद छात्र कई सारे course कर सकते हैं। जो नीचे दिए गए है :

सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स

इलेक्ट्रो होम्योपैथी में सर्टिफिकेट कोर्सक्लिनिकल होम्योपैथी में सर्टिफिकेट कोर्स
होम्योपैथिक औषधीय प्रणाली में सर्टिफिकेट कोर्स (सीएचएमएस)सतत होम्योपैथिक चिकित्सा शिक्षा कार्यक्रम
होम्योपैथी में सर्टिफिकेट कोर्स (सी.होम)इलेक्ट्रो-होम्योपैथी में डिप्लोमा
सतत होम्योपैथिक चिकित्सा शिक्षा कार्यक्रमहोम्योपैथिक चिकित्सा और सर्जरी में डिप्लोमा

होम्योपैथी में एमडी

एमडी इन  पीडियाट्रिक्सएमडी इन रिपर्टरी
एमडी इन एन्दोक्रिनोलोजीएमडी इन साइकाइट्री
एमडी इन होम्योपैथिक फार्मेसीएमडी इन प्रैक्टिस ऑफ़ मेडिसिन

BHMS करियर विकल्प और नौकरी की संभावनाएं (BHMS Career Options & Job Prospects)

BHMS में ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद, उम्मीदवारों के पास बहोत सारे अवसर उपलब्ध होते हैं। इच्छुक छात्र होम्योपैथी में एमडी कर सकते हैं जो 3 साल के लिए है। छात्र होम्योपैथी में एमडी जैसे विषयों में एमडी कर सकते हैं – मटेरिया मेडिका, होम्योपैथी में एमडी – ऑर्गन ऑफ मेडिसिन, और अन्य। चूंकि होम्योपैथी उपचार साइड-इफेक्ट मुक्त है, इसलिए संबंधित क्षेत्र में डिग्री वाले लोगों की बहुत मांग है।

स्नातक होने के बाद, कोई भी निजी और सरकारी अस्पतालों/क्लीनिकों दोनों में होम्योपैथी चिकित्सक के रूप में अभ्यास कर सकता है। कोई भी अपना निजी अभ्यास भी शुरू कर सकता है और क्षेत्र के निर्माण, गुणवत्ता नियंत्रण, बिक्री और विपणन आदि में काम कर सकता है। स्नातकों के लिए उपलब्ध सामान्य जॉब प्रोफाइल हैं:

  • होम्योपैथिक चिकित्सक
  • होम्योपैथिक सलाहकार
  • टीचिंग जॉब
  • फार्मेसिस्ट
  • बीमा अधिकारी
  • रिसर्च प्रोफेशनल
  • मार्केटिंग स्पेशलिस्ट

BHMS डॉक्टरों की सैलरी कितनी होती है? (BHMS Doctor Salary)

सरकारी क्षेत्र में एक होम्योपैथिक डॉक्टर का वेतन रु. 25,000 से रु. 35,000 प्रति माह है, जबकि निजी क्षेत्र में वेतन 20,000 रुपये प्रति माह से शुरू होता है।

जॉब प्रोफाइल के आधार पर बीएचएमएस कोर्स के बाद वेतन(After BHMS Course Salary)

नौकरी प्रोफ़ाइलवेतन पैकेज (INR)
मैडिकल चिकित्सकों4.5 लाख प्रति वर्ष
सर्जन7.6 लाख प्रति वर्ष
डायटीशियन2.2 लाख प्रति वर्ष
फार्मेसिस्ट२ लाख प्रति वर्ष
नर्स३ लाख प्रति वर्ष
Last Final Word 

दोस्तों, हम उम्मीद करते है की BHMS कोर्स की पूरी जानकारी के बारे में इस आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा जैसे BHMS कोर्स क्या है?, BHMS कोर्स का फुल फॉर्म, BHMS Course की मुख्य विशेषता, BHMS कोर्स के लिए योग्यता क्या क्या है?, बीएचएमएस प्रवेश प्रक्रिया, टॉप बीएचएमएस कोर्स प्रवेश परीक्षा, बी.एच.एम.एस. कोर्स फीस, BHMS सिलेबस, BHMS करियर विकल्प और नौकरी की संभावनाएं, BHMS डॉक्टरों की सैलरी कितनी होती है? जैसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिया अच्छी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement