Career Guide

Army Officer कैसे बने पूरी जानकारी

Advertisement

नमस्कार दोस्तों। आज के आर्टिकल में हम बात करेंगे की Indian Army Officer (भारतीय सेना अधिकारी) कैसे बने। भारतीय सेना (Indian Army) को भारतीय सशस्त्र बलों की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी शाखा माना जाता है। सशस्त्र बलों की प्रमुख जिम्मेदारी व्यक्तियों को जमीन पर लड़ने के लिए प्रशिक्षित करना है। भारतीय सेना में विभिन्न डिवीजन होते हैं। भारतीय सेना (Indian Army) देश की भौगोलिक सीमाओं की रक्षा करती है और युद्ध की स्थिति में दुश्मन के इलाके से लड़ती है। सेना के प्रशिक्षण में रक्षात्मक और आक्रामक दोनों तरह के प्रशिक्षण शामिल हैं। भारतीय सेना प्राकृतिक आपदाओं के दौरान राहत और बचाव अभियान चलाने और उग्रवाद से निपटने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। भारतीय सेना में उपलब्ध अवसर बहुत अधिक हैं। कोई अन्य करियर आपके कौशल को उन्नत करने के लिए इस तरह के अभूतपूर्व अवसर प्रदान नहीं करता है।

Army Officer बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

सेना अधिकारी बनने के लिए आवश्यक न्यूनतम योग्यता कक्षा 12वीं है। सेना अधिकारी बनने की विस्तृत प्रक्रिया नीचे विस्तृत में है :

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) पात्रता (National Defense Academy (NDA) Eligibility) :

Advertisement
  • 12वीं कक्षा पास करने वाले उम्मीदवार राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • एनडीए (NDA) के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक न्यूनतम आयु 16.5 से 19.5 वर्ष है।
  • एनडीए वर्ष में दो बार प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के लिए लिखित परीक्षा आयोजित करता है।
  • शारीरिक और चिकित्सा परीक्षणों के साथ लिखित परीक्षा को पास करने वाले उम्मीदवारों को एनडीए, खडकवासला, पुणे में तीन साल और भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून में एक साल का प्रशिक्षण लेना होगा।
  • प्रशिक्षण के बाद, उम्मीदवारों को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) से B.Sc. या B.A की डिग्री प्राप्त होगी।
  • प्रशिक्षण पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को भारतीय सशस्त्र बलों (Indian Armed Forces) या भारतीय सेना (Indian Army) में तैनात किया जाएगा।

जरुर पढ़े: एनडीए (NDA) क्या है और कैसे जॉइन करे?

10+2 तकनीकी प्रवेश योजना (टीईएस) पात्रता (10+2 Technical Entry Scheme (TES) Eligibility):

  • जिन उम्मीदवारों ने कम से कम 70% अंकों के साथ भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित के साथ कक्षा 12 पूरी की है, वे तकनीकी प्रवेश योजना (TES) के लिए आवेदन करने के पात्र हैं।
  • टीईएस (TES) के लिए हर साल जनवरी और जून में लिखित परीक्षा आयोजित की जाएगी।
  • लिखित परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवारों को अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (Officers Training Academy) यानि की OTA (ओटीए) में एक साल का प्रशिक्षण और कैडेट प्रशिक्षण विंग में चार साल का प्रशिक्षण लेना होगा।
  • टीईएस (TES) के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक न्यूनतम आयु 16.5 से 19.5 वर्ष है।
  • प्रशिक्षण के सफल समापन के बाद, उम्मीदवारों को जेएनयू (JNU) से बी.टेक (B.Tech) डिग्री के साथ पोस्टिंग मिलेगी।
    भारतीय सेना की आधिकारिक वेबसाइट, यानी ज्वाइन इंडियन आर्मी (Join Indian Army) से एनडीए और 10+2 टीईएस में आवेदन कर सकते है।

Army officer की नौकरी भूमिकाओं के प्रकार

भारतीय सेना को विभिन्न डिवीजनों में बांटा गया है। भर्ती परीक्षाओं में आवश्यक योग्यता, कौशल और प्रदर्शन वाले उम्मीदवारों को निम्नलिखित संभागों में रोजगार मिलेगा।

पैदल सेना (Infantry): पैदल सेना में सशस्त्र सैनिक शामिल होते हैं जो स्वचालित राइफल, सेल्फ-लोडिंग राइफल, मशीन गन, स्वचालित राइफल आदि जैसे उपकरणों का उपयोग करके दुश्मन से पैदल लड़ते हैं। पैदल सेना विंग के अधिकारियों को हथियारों से निपटने में गहन प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

Advertisement

बख़्तरबंद कॉर्प्स (Armored Corps): बख़्तरबंद कॉर्प्स (दल) में टैंक और अन्य बख़्तरबंद वाहनों की बटालियन शामिल हैं। इनका उपयोग पैदल सेना के साथ दुश्मन के इलाके पर कब्जा करने या उससे लड़ने के लिए किया जाता है। वे युद्ध में दुश्मन के टैंकों को उलझाकर स्थिति की रक्षा भी करते हैं।

आर्टिलरी (Artillery): आर्टिलरी के अधिकारी अपने युद्धाभ्यास के लिए लंबी दूरी की फील्ड गन, मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्चर और मिसाइल का इस्तेमाल करते हैं। वे हमलावर और रक्षात्मक ऑपरेशन करते हैं।

सेना के इंजीनियर (Army Engineers): सेना के इंजीनियरों की प्रमुख जिम्मेदारी सड़क, हेलीपैड, हवाई क्षेत्र, पुल आदि का जल्द से जल्द निर्माण करना है ताकि रक्षा बलों के तीन खंड तेजी से आगे बढ़ सकें। वे दुश्मन के ठिकानों को भी नष्ट कर देते हैं और दुश्मन सैनिकों की उन्नति में बाधा उत्पन्न करते हैं।

सिग्नल रेजिमेंट अधिकारी (Signal Regiment Officers): सिग्नल रेजिमेंट के अधिकारी युद्ध के दौरान भारतीय सेना के मुख्यालय और अग्रिम पदों के बीच संचार लिंक के त्वरित रखरखाव (quick maintenance) और कार्यान्वयन (implementation) के लिए जिम्मेदार होते हैं। वे इलेक्ट्रॉनिक युद्ध के लिए भी जिम्मेदार हैं।

सेना सेवा कॉर्प्स (एएससी) (Army Service Corps (ASC)): एएससी कर्मियों या अधिकारी वाहनों, सैनिकों, हथियारों और गोला-बारूद आदि की आवाजाही के लिए जिम्मेदार होते हैं। ये अधिकारी राशन, हथियार और गोला-बारूद, कपड़े और विशेष उपकरणों के सुरक्षित भंडारण के लिए भी जिम्मेदार होते हैं।

Advertisement

इंटेलिजेंस कॉर्प्स (Intelligence Corps): ये अधिकारी दुश्मन सैनिकों के बारे में उनकी योजनाओं और गतिविधियों के बारे में जानकारी के संग्रह, विश्लेषण और व्याख्या में शामिल होते हैं।

आर्मी मेडिकल कॉर्प्स (Army Medical Corps): आर्मी मेडिकल कॉर्प्स में डॉक्टर शामिल होते हैं, और उनकी प्रमुख जिम्मेदारी सैनिकों के परिवारों और सशस्त्र बलों के अधिकारियों के लिए चिकित्सा देखभाल प्रदान करना है।

जरुर पढ़े: IAS अधिकारी कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में

सेना अधिकारियों के लिए रोजगार के अवसर (Employment Opportunities for Army Officers)

भारतीय सशस्त्र बल (Indian Armed Force) भारत में सेना के अधिकारियों की एकमात्र भर्ती है। निजी क्षेत्र में कोई रोजगार नहीं है, और सरकारी क्षेत्र में रोजगार स्थायी है। हालांकि, उम्मीदवारों को भारतीय सेना में रोजगार पाने के लिए लिखित, शारीरिक और चिकित्सा परीक्षणों को पास करना होगा। लिखित और अन्य परीक्षाओं को पास करने के बाद उम्मीदवारों को सैन्य प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा। प्रशिक्षण के सफल समापन के बाद, उम्मीदवारों को भारतीय सेना के विभिन्न डिवीजनों में तैनात किया जाएगा।

आर्मी ऑफिसर को कितनी सैलरी मिलती है? (Army Officer Salary in Hindi)

भारत सरकार सेना के अधिकारियों को आकर्षक वेतन देती है।

Advertisement
पद का नामवेतन प्रति माह
कप्तानRs. 15,600 to 39,100
प्रमुखRs. 15,600 to 39,100
लेफ्टेनंट कर्नलRs. 37,400 to Rs. 67,000
कर्नलRs. 37,400 to Rs. 67,000

वेतन के अलावा, सेना के अधिकारी कई लाभों और सब्सिडी का आनंद लेते हैं।

नोट: उपरोक्त आंकड़े एक अनुमान हैं और अलग-अलग व्यक्तियों और पदों में भिन्न हो सकते हैं।

सेना अधिकारी बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री

एनडीए परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए छात्र निम्नलिखित पुस्तकों का वांचन कर सकते हैं:

  • National Defense Academy Examination Upkar Prakashan
  • Pathfinder 2018 For NDA Entrance Examination
  • Mathematics for NDA and NA By R S Aggarwal
  • Pathfinder for NDA & NA Entrance Examination National Defense Academy/Naval Academy Conducted by UPSC by Arihant Experts
  • Compendium General Knowledge 2018 with Latest Facts & Data By Kumar Sundaram
  • General Knowledge for useful for SSC NDA, IAS by Rajat Wasan

जरुर पढ़े: अपराध जांच विभाग (सीआईडी) अधिकारी कैसे बने?

आर्मी ऑफिसर बनने के फायदे

  1. स्थायी नौकरी
  2. आकर्षक वेतन

आर्मी ऑफिसर बनने के नुकसान

  1. खतरनाक काम करने की स्थिति
  2. परिवार से दूर रहना

Final Last Word:

हम उम्मीद करते हे की यह आर्टिकल के जरिये आपको पता चल गया होगा, जेसे की Indian Army Officer (सेना अधिकारी) बनने की योग्यता, सेना अधिकारी (Army officer) की नौकरी भूमिकाओं, सेना अधिकारियों के लिए रोजगार के अवसर, सेना अधिकारी (Army Officer) का वेतनमान / वेतन, सेना अधिकारी ( Indian Army Officer ) बनने के लिए पुस्तकें और अध्ययन सामग्री की लिस्ट, आर्मी ऑफिसर (सेना अधिकारी) बनने के फायदे और नुकसान से जुड़ी जेसी सभी माहिती से आप वाकिफ हो चुके होगे।

दोस्तों आपके लिए Studyhotspot.com पे ढेर सारी Career & रोजगार और सामान्य ज्ञान से जुडी जानकारीयाँ एवं eBooks, e-Magazine, Class Notes हर तरह के Most Important Study Materials हर रोज Upload किये जाते है जिससे आपको आशानी होगी सरल तरीके से Competitive Exam की तैयारी करने में।

आपको यह जानकारिय अछी लगी हो तो अवस्य WhatsApp, Facebook, Twitter के जरिये SHARE भी कर सकते हे ताकि और भी Students को उपयोगी हो पाए। और आपके मन में कोई सवाल & सुजाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे बता सकते हे, धन्यवाद्।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement